Sports

जालन्धर : दिसंबर 2018 में अचानक संन्यास लेकर सबको चौंकाने वाले भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने आखिरकार राजनीति में आने संबंधी अपनी चुप्पी तोड़ दी है। एक चैनल के साथ इंटरव्यू के दौरान गंभीर ने साफ शब्दों में भारत की जनता से पूछा कि क्या आप मुझे वोट दोगे। हालांकि उक्त इंटरव्यू जब वायरल हुई तो शाम करीब 6.47 मिनट पर गंभीर ने एक ट्विट कर इससे साफ इंकार कर दिया। 

PunjabKesari

गंभीर ने अपने ट्विट में लिखा- ऐसी बहुत सारी खबरें आ रही हैं जिसमें यह कहा जा रहा है कि मैं पॉलीटिक्स ज्वाइंन कर रहा हूं। मैं आपको बता देना चाहता हूं कि इन बातों में कोई सच्चाई नहीं है। इस वक्त मैं एक रिटायर क्रिकेटर हूं जो कि भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया में जीतते देखने की प्रतीक्षा कर रहा हूं। 
देखें ट्विट-

इससे पहले गंभीर ने टीवी चैनल पर यह कहा था-

PunjabKesari

गंभीर ने कहा कि अगर मैंने क्रिकेट में कुछ अच्छा किया भी है तो इसका मतलब यह नहीं है कि पॉलीटिक्स में आने पर लोग मुझे वोट देंगे। हां, भारत के फौजियों की बात करता हूं जैसे कोई राष्ट्रवादी करते हैं। कोई इसलिए मुझे वोट थोड़ी न देगा। हां अगर लोगों को लगता है कि मैं उनकी जिंदगी में कोई बदलाव ला सकता हूं तो वह मुझे वोट दे सकते हैं।

गंभीर ने साफ किया कि लोग मुझे वोट इसलिए नहीं देंगे क्योंकि मैं क्रिकेटर हूं या इसलिए नहीं देंगे क्योंकि मैं एक फाऊंडेशन चला रहा हूं। या इसलिए नहीं देंगे मैं देश के बड़े मुद्दों पर बोलता है। वह मुझे सिर्फ इसलिए वोट देंगे क्योंकि उन्हें मेरे ऊपर भरोसा है। अगर उन्हें लगता है कि मैं उनकी जिंदगी बदल सकता हूं। गंभीर से जब यह पूछा गया कि क्या पॉलीटिक्स में वह दूसरी पारी शुरू करेंगे तो उन्होंने कहा- अगर लोग सोचते हैं कि मैं अच्छा हूं और मैं देश में बदलाव लाने के लिए सक्षम हूं। 

.
.
.
.
.