Sports

जालन्धर : गौतम गंभीर ने आखिरकार भरे मन से क्रिकेट को अलविदा बोल ही दिया। बीते दिनों उन्हें होम टीम दिल्ली डेयरडेविल्स से आईपीएल ऑक्शन के पहले रिलीज कर दिया था। ऐसे में उन्होंने किसी और टीम से खेलने की बजाय संन्यास लेना ही बेहतर समझा।भारत के लिए 58 टेस्ट, 147 वनडे और 37 टी-20 मैच खेलने वाले गंभीर ने अपने करियर में कुल 10,324 रन बनाए। इसमें 20 शतक और 63 अर्धशतक भी शामिल थे। गंभीर ने भारत के लिए 6 मैचों में कप्तानी भी की। यह सारे मैच टीम इंडिया ने जीते। पेश है गौतम गंभीर की वो 5 बैस्ट पारियां जो ताउम्र याद रखी जाएंगी।

2011 विश्व कप फाइनल में 97 रन बनाम श्रीलंका
Punjab Kesari sports, Gautam Gambhir

2011 के विश्व कप फाइनल में गंभीर भले ही शतक बना नहीं पाए लेकिन उनकी 97 रनों की पारी ने भारत के लिए मैच जिताने वाला काम किया। धुरंधर सहवाग के जद पवेलियन लौटने के बाद गंभीर ने 122 गेंदों में 97 रनों की सधी हुई पारी खेली थी। दूसरे छोर से युवराज और धोनी ने भी हालांकि धुआंधार पारियां खेलीं लेकिन गंभीर एक छोर संभालकर टीम का स्कोर आगे बढ़ाते रहे। फाइनल मैच में धोनी को मैन ऑफ द मैच चुना गया था। लेकिन आज भी कई क्रिकेट एक्सपर्ट गंभीर को इसका हकदार मानते हैं। 

2007 टी-20 विश्व कप फाइनल में 75 रन बनाम पाकिस्तान
Punjab Kesari sports, Gautam Gambhir

2007 टी-20 विश्व कप के फाइनल मुकाबले के दौरान भारत का मुकाबला पाकिस्तान के सामने था। पाकिस्तान तेज गेंदबाज उक्त मैच में हावी होते नजर आ रहे थे। ऐसे में दक्षिण अफ्रीका की सबसे तेज जोहान्सबर्ग पिच पर गंभीर का बला चला। उन्होंने 75 रन बनाकर टीम इंडिया का स्कोर 157 रन पर ला खड़ा किया। भारतीय टीम को 5 रनों से जीत मिली और भारत पहला वल्र्ड टी-20 चैंपियन बना।

150* रन श्रीलंका के खिलाफ
Punjab Kesari sports, Gautam Gambhir

श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता में खेले गए उक्त मैच में गंभीर ने अपना मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड युवा बल्लेबाज विराट कोहली को दे दिया था। दरअसल भारतीय टीम ने 316 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए जल्द ही सचिन और सहवाग का विकेट गंवा था। ऐसे समय में गंभीर ने कोहली के साथ मिलकर 224 रनों की पार्टनरशिप की। गंभीर ने 137 गेंदों में 14 चौकों की मदद से 150 रन बनाए थे। लेकिन उन्होंने 114 रन बनाने वाले कोहली का जीत का श्रेय दिया था।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच में दोहरा शतक 
PunjabKesari

दिल्ली के मैदान पर गौतम गंभीर ने ऑस्टे्रलिया के खिलाफ शानदार दोहरा शतक लगाकर खूब वाहवाही लूटी थी। यह भारतीय दिग्गज अनिल कुंबले का आखिरी मैच था। गंभीर ने उक्त मैच में पहले सचिन तो फिर वीवीएस लक्ष्मण के साथ शतकीय साझेदारियां की थी। उक्त मैच में गंभीर ने 26 चौके और एक छक्के की मदद से 206 रन बनाए थे। यह मैच ड्रा रहा था लेकिन गंभीर की पारी की चारों तरफ चर्चाएं होने लगी थीं।

न्यूजीलैंड के खिलाफ नेपियर टेस्ट में 137 रन
Punjab kesari sports Gautam Gambhir

गंंभीर ने अपनी रिटायरमैंट स्पीच में भी न्यूजीलैंड दौरे का जिक्र किया है। न्यूजीलैंड में उन्होंने जब टीम इंडिया पर पारी की हार का खतरा था तब उन्होंने 137 रन की पारी खेलकर मैच ड्रा करवाया था। दरअसल न्यूजीलैंड ने पहले खेलते हुए 619 रन का विशाल स्कोर बनाया था। इसके जवाब में भारतीय पारी 305 पर ऑल आऊट हो गई। गंभीर ने 10 घंटों की अपनी पारी में 436 रन बनाए थे।

.
.
.
.
.