Sports

मुंबईः इंडियन प्रीमियर लीग का उदाहरण देते हुए पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने आज भारतीय खेलों में कारपोरेट समर्थन और पेशेवरपन का पक्ष लिया। आईपीएल का इस साल 11वां टूर्नामेंट खेला जा रहा है जिसकी शुरुआत सात अप्रैल से हुई।

जेएसडब्ल्यू ग्रुप द्वारा काफी टेबल किताब ‘बियोंड द बोर्डरूम’ के विमोचन के दौरान गांगुली ने कहा, ‘‘आईपीएल इतना सफल हुआ क्योंकि इसे पेशेवर रूप से चलाया गया और यह सबसे महत्वपूर्ण चीज है। प्रत्येक खिलाड़ी चाहे वह क्रिकेटर हो या फुटबाॅलर या जिम्नास्ट या टेनिस खिलाड़ी, अगर वह महेश (भूपति) जितना अच्छा है तो उसकी प्रतिभा को निखरने का मौका दिया जाना चाहिए और इसे राजनीतिक मतभेदों में नहीं दबाना चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इस पेशेवरपन तथा कारपोरेट समर्थन के कारण कोई उन्हें नहीं रोक सकता। उनका मुख्य लक्ष्य यह सुनिश्चित करना होना चाहिए कि कोई खिलाड़ी ओलंपिक या राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीते। इससे प्रतिभा को खुद को जाहिर करने और बेहतर बनने का मौका मिलता है।’’