Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज का चौथा और आखिरी टेस्ट मैच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला गया । ऐसे में कल भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने टीम इंडिया के 13 खिलाड़ियों के नाम की घोषणा की थी। टीम को देखकर भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने टीम के चयन के लेकर सवाल खड़े किए है। गांगुली का मानना है कि 13 सदस्यों के टीम में भुवनेश्वर कुमार और हार्दिक पांड्या को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच में खेलता ना देखकर हैरानी हुई हैं। पांड्या और भुवी के टीम में आने से बल्लेबाज और गेंदबाजी दोनों का अतिरिक्त विकल्प मिलता।
PunjabKesari
गांगुली ने एक वेबसाइट से बातचीत में कहा, 'पांड्या को 13 सदस्यीय टीम में ना देखकर मैं हैरान हूं क्योंकि वो बल्ले और गेंद दोनों के साथ टीम का मूल्य बढ़ाता है और वो तीसरे सीमर का अच्छा विकल्प होता। मैं इस बात से भी हैरान हूं कि भुवनेश्वर को टीम में नहीं शामिल किया गया, खासकर जब इशांत अनफिट है।' भारतीय टीम ने सिडनी में दो स्पिनरों के साथ खेलने की बात कही थी। जिसके जवाब में गांगुली रविचंद्रन अश्विन को प्लेइंग इलेवन में देखना चाहते थे। जबकि भारतीय टीम सिडनी में रविंद्र जडेजा और कुलदीप यादव के साथ खेल रही है।
PunjabKesari
गौरतलब है कि पिछले मैच से चोटिल अश्विन अभी तक पूरी तरह फिट नहीं हुए हैं। गांगुली ने आगे कि, 'अगर भारत को दूसरा स्पिनर खिलाना है तो वो उन्हें अश्विन के 100 प्रतिशत फिट होने की पुष्टि करनी होगी। क्योंकि अगर कुछ गलत होता है को टीम केवल तीन गेंदबाजों के साथ रह जाएगी।'

.
.
.
.
.