Sports

बर्मिंघम: भारत की विश्व कप में इंग्लैंड के हाथों हार के बाद पूर्व क्रिकेटरों ने महेंद्र सिंह धोनी की लचर बल्लेबाजी की कड़ी आलोचना की। भारत के सामने 338 रन का लक्ष्य था लेकिन वह पांच विकेट पर 306 रन ही बना पाया। धोनी 31 गेंदों पर 42 और केदार जाधव 13 गेंदों पर 12 रन बनाकर नाबाद रहे थे। मैच की कमेंट्री कर रहे पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली और नासिर हुसैन धोनी की बल्लेबाजी रवैये पर सवाल उठाए।

PunjabKesari

मैच में कॉमेंट्री कर रहे गांगुली ने केदार यादव, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा 5 विकेट हाथ में रखकर 338 रनों का लक्ष्य चेज नहीं कर पा रहे यह चौकाने वाली बात है आपको क्लियर होना चाहिए कि कैसी भी गेंदबाजी हो लेकिन आपको बाउंड्री लगानी होगी। उन्होंने कहा, ‘यह मनोदशा और मैच को लेकर आपकी सोच से जुड़ा है। संदेश साफ होना चाहिए था, चाहे जैसे भी हो और चाहे गेंद जहां भी पड़े आपको चौका या छक्का लगाना ही होगा।' ऋषभ पंत और हार्दिक पंड्या के आउट होने के बाद भारत को आखिरी पांच ओवरों में 71 रन चाहिए थे। 

PunjabKesari

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि भारतीयों के रवैये को देखकर प्रशंसकों को निराशा हुई होगी। हुसैन ने कमेंट्री करते हुए कहा, ‘मैं बहुत हैरान हूं। क्या चल रहा है। भारत ऐसा नहीं चाहता है। उसे रन की जरूरत है। वे क्या कर रहे हैं। कुछ भारतीय प्रशंसक स्टेडियम से निकलने लग गए हैं। निश्चित तौर पर वे धोनी से बड़े शाट चाहते हैं। यह विश्व कप का मैच है। दो चोटी की टीमें खेल रही हैं। भारतीय प्रशंसक चाहते हैं कि उनकी टीम कुछ और प्रयास करे। जीत के लिए जोखिम ले।'

.
.
.
.
.