Sports

नई दिल्ली: सरकार की टारगेट ओलम्पिक पोडियम (टॉप्स) स्कीम से खराब फार्म और फिटनेस के चलते बाहर किए गए स्टार निशानेबाका गगन नारंग ने आलोचकों को जवाब देते हुए जर्मनी के हैनोवर में अंतरराष्ट्रीय निशानेबाकाी चैम्पियनशिप में पुरूषों की एयर राइफल स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल किया है। विश्व और ओलम्पिक पदक विजेता निशानेबाका नारंग ने एयर राइफल स्पर्धा के फाइनल में 249.6 का स्कोर किया और स्वर्ण जीता। 

उन्होंने दो अंकों के अंतर से स्वीडन के मार्कस मैडसेन को पराजित किया जिन्हें 247.6 के स्कोर के साथ रजत पदक और अमेरिका के जार्ज नॉर्टन को 225.9 के स्कोर के साथ कांस्य पदक मिला। इससे पहले भारतीय निशानेबाका गगन ने 622.4 का स्कोर हासिल करते हुए चौथे स्थान के साथ फाइनल के लिए क्वालीफाई किया था। पुरूषों की 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में अन्य भारतीय निशानेबाकाों में मोनू कुमार 619.4 के साथ क्वालिफिकेशन में नौंवे, मानस कुमार सिंह 615.4 19वें, मुकुंद अग्रवाल 611.8, 24वें, गजेंद्र सिंह रनावत 611.4 26वें और अधिराज सिंह मान 608.7 के स्कोर के साथ 30वें पायदान पर रहे।

गगन के लिए यह स्वर्ण इसलिए ज्यादा अहम है क्योंकि हाल ही में केंद्रीय खेल मंत्रालय की ओर से ओलम्पिक और वैश्विक स्पर्धाओं की तैयारियों के लिए बनाई गई अहम योजना टॉप्स से उन्हें बाहर कर दिया गया था। वर्ष 2012 लंदन ओलम्पिक के कांस्य पदक विजेता गगन सहित 12 एथलीटों को उनके हालिया प्रदर्शन के आधार पर इस योजना से बाहर किया गया था।

गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में भी गगन का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था और इन खेलों के बाद मिशन ओलम्पिक सेल ने खिलाड़यिों के प्रदर्शन की समीक्षा के बाद भारतीय निशानेबाका को टॉप्स से बाहर करने का फैसला किया। 

.
.
.
.
.