IPL 2019
Sports

जालन्धर : भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच नागपुर में खेले गए दूसरे वनडे के दौरान टॉस के वक्त एक रोचक वाक्या हुआ जो सोशल साइट्स पर तेजी से वायरल हो गया। दरअसल, टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान आरोन फिंच मैच रैफरी मदुगुले के साथ टॉस के लिए पिच पर पहुंचे थे। कोहली ने सिक्का उछाला जो जमीन पर गिरने के बाद उछलकर मदुगुले की ओर मुड़ गया। अगर सिक्का मदुगुले के पैर से टकराता तो आईसीसी नियमों के अनुसार दोबारा टॉस होनी थी लेकिन मदुगुले की फूर्ति के कारण यह नौबत ही नहीं आई।

हुआ यह था : टॉस के लिए भारत और आस्ट्रेलिया के कप्तान क्रीज पर पहुंच गए थे। मैच रैफरी रंजन मदुगले की इशारे पर विराट कोहली ने टॉस के लिए सिक्का उछाला। सिक्का जमीन पर आया तो उछलकर एक तरफ खड़े मैच रैफरी की ओर चला गया। सिक्का खुद की ओर आता देख रंजन ने खड़े-खड़े छलांग लगा दी। तभी कांमेंटेटर संजय माजरेकर ने कहा- सिक्का क्या आपके बूट से लगा है। क्या टॉस दोबारा होगी तो इस पर रैफरी ने कहा- नहीं। सब ठीक है। सिक्का मेरे बूट से नहीं टकराया। फिंच टॉस जीते हैं।

यह है नियम : आईसीसी के नियमों के मुताबिक टॉस हमेशा क्रिकेट पिच पर होनी है। टॉस के वक्त दोनों टीमों के कप्तान और मैच रैफरी का रहना जरूरी होता है। मैच रैफरी सुनिश्चित करता है कि टॉस के लिए जो सिक्का फेंका गया है, उसकी प्रक्रिया साफ हो। वह ध्यान रखेगा कि कहीं सिक्का उछलकर ग्राऊंड में पड़ी किसी भी चीज (विकेट), या किसी के पैर से न टकराए। अगर ऐसा होता है तो टॉस दोबारा करवानी पड़ेगी।

.
.
.
.
.