Sports

जालन्धर : फ्रांस में बैडमिंटन के सबसे पुराने इवैंट में से एक फ्रैंच ओपन 23 अक्तूबर से शुरू होने वाला है। 2007 में इसे बीडब्लयूएफ सुपर सीरीज के तहत दुनिया भर के 12 बड़े टूर्नामैंट में शामिल किया गया था। भारत के लिए यह सीरीज इसलिए भी खास है क्योंकि पिछले साल भारतीय शटलर श्रीकांत किदांबि ने 16 साल बाद यहां भारत को मैडल दिलाया था। इससे पहले आखिर बार भारत के लिए 2000 में सिद्धार्थ जैन तो 2001 में श्याम गुप्ता ने मैडल जीता था। इसके बाद भारत का कोई भी शटलर मैंस सिंगल, वुमैंस सिंगल, मैंस डबल, वुमैंस डबल और मिक्सड डबल में मैडल नहीं जीत पाया था। अब इस साल भारत की ओर से श्रीकांत किदांबि के अलावा बीएस प्रणीत, समीर वर्मा, पीवी सिंधू, साइना नेहवाल, मनु अत्री, बीएस रेड्डी, एस. रेंकीरेड्डी और चिराग शैट्टी कड़ी टक्कर देंगे।

भारत मैडल टैली में है 12वें नंबर पर
Saina nehwal, Badminton player

फ्रैंच ओपन में जहां तक मैडल जीतने की बात है तो भारत इसमें 12वें नंबर पर काबिज है। भारत मैंस इवैंट में 5 बार, वुमैंस इवैंट में एक बार, मिक्स मैंस में 1.5 मेडल (.५ इसलिए क्योंकि भारत के एसी बाहरी ने तब मलेशिया के सीएल याप के साथ मैडल जीता था) ले चुका है। इंगलैंड अभी भी इस लिस्ट में 110 मैडल के साथ टॉप पर बना हुआ है। इंगलैंड मैंस सिंगल में 15, वुमैंस सिंगल में 26, मैंस डबल में 18, वुमैंस डबल में 28 तो मिक्सड डबल में 23 मैडल जीत चुका है। मेजबान फ्रांस 6 मैंस, 9 वुमैंस, 8 मैंस डबल, 11.5 वुमैंस डबल तो मिक्सड डबल में 7.5 मैडल जीतकर इस लिस्ट में तीसरे स्थान पर बना हुआ है।

मैंस विजेता को मिलेंगे 52,500 यू.एस. डॉलर
PunjabKesarisports PVsindhu, Badminton player image photo

बीडब्लयूएफ की सबसे बड़ी बैडमिंटन प्रतियोगिता में से एक फ्रैंच ओपन में विजेताओं को 7,50,000 डॉलर की भारी भरकम ईनामी राशि बांटी जाएगी। सिंगल मैंस इवैंट में विजेता को 52,500 डॉलर तो वुमैंस इवैंट की विजेता को 55,500 डॉलर बतौर ईनाम मिलेंगे। इसके अलावा मैंस के फाइनल में पहुंचने वाले प्लेयर को 25,500, सेमीफाइनल में 10.500, क्वार्टरफाइनल में 4,125 डॉलर मिलते हैं। वहीं, मैंस इवैंट में ही लास्ट 16 में रहने पर 2,250 डॉलर तो लास्ट 32 में रहने पर 750 डॉलर मिलते हैं।

पुरुष एकल में श्रीकांत, प्रणीत और समीर भी खेलेंगे
श्रीकांत के अलावा पुरूष एकल वर्ग में भारत के बी साइ प्रणीत और समीर वर्मा भी खेलेंगे। समीर को डेनमार्क ओपन के क्वार्टर फाइनल में श्रीकांत ने हराया था। अश्विनी पोनप्पा और सात्विक साइराज रांकीरेड्डी मिश्रित युगल में भारतीय चुनौती पेश करेंगे।  इस बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 750 टूर्नामैंट में ताइ जू और केंटो मोमोटा एक बार फिर खिताब की प्रबल दावेदार होंगी।  महिला वर्ग में ताइ जू, साइना, सिंधू और कैरोलिना मारिन की चुनौती होगी। वहीं पुरूष वर्ग में चेन लोंग, सोन वान हो, विक्टर एक्सेलसेन और शि युकी प्रबल दावेदारों में होंगे। श्रीकांत पहले दौर में दुनिया के 22वें नंबर के खिलाड़ी वोंग विंग कि विंसेंट से खेलेंगे जबकि साइना का सामना 37वीं रैंकिंग वाली साएना कावाकामी से और सिंधू की टक्कर 11वीं रैंकिंग वाली बेइवेन झांग से होगी। झांग ने सिंधू को पिछले सप्ताह हराया था।

.
.
.
.
.