Sports

नई दिल्ली : पांच बार के पैरालंपियन निशानेबाज नरेश कुमार शर्मा ने आगामी तोक्यो खेलों के लिए नहीं चुने जाने को लेकर दिल्ली उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है। 

अर्जुन पुरस्कार विजेता शर्मा ने आरोप लगाया कि उन्होंने सभी पात्रता मानदंडों और न्यूनतम क्वालीफाइंग स्कोर हासिल किया लेकिन इसके बाद भी चयन पैनल, भारतीय पैरालंपिक समिति (पीसीआई) ने जानबूझकर और मनमाने ढंग से पैरालंपिक के लिए उनके नाम की अनदेखी की। 

याचिका में मांग की गयी है कि न्यायालय पीसीआई को ‘आर7 स्पर्धा’ के लिए चयनित निशानेबाजों की सूची में शर्मा के नाम को शामिल करने का निर्देश दे। न्यायमूर्ति रेखा पल्ली 22 जुलाई को इस मामले की सुनवाई करेंगी। अधिवक्ता सुशांत सिंह और अमित कुमार शर्मा के माध्यम से दायर अपनी याचिका में, उन्होंने तर्क दिया है कि चयन प्रक्रिया निष्पक्ष और पारदर्शी नहीं थी और समिति ने उनके खिलाफ पक्षपाती रवैया अपनाया। 

.
.
.
.
.