Sports

स्पोर्ट्स डेस्क(राहुल): आईपीएल सीजन-11 उस रोमांचक मोड़ पर आ चुका है जहां तय होगा कि आखिर काैन सी टीम अपने सिर पर ताज सजाएगी। 22 मई को क्वालिफायर-1 में चेन्नई सुपर किंग्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को 2 विकेट से हराकर फाइनल में जगह बनाई। अब बारी है किसी दूसरी टीम का फाइनल में पहुंचने की। कल यानी 25 मई को क्वालिफायर-2 में कोलकाता नाईट राइडर्स आैर हैदराबाद भिड़ेंगी। इनमें से जो टीम जीतेगी वो फाइनल में पहुंचेगी। अगर पुराने आंकड़ों पर नजर डालें तो साबित होता है कि फैंस को चेन्नई-केकेआर के बीच फाइनल मुकाबला देखने को मिल सकता है।

हैदराबाद पर भारी पड़ती है KKR 
दोनों टीमों के बीच अबतक 14 मैच हुए हैं जिसमें केकेआर के धुरंधर हैदराबाद पर भारी पड़ते नजर आए हैं। केकेआर ने इनमें से 9 तो हैदराबाद 5 मैच जीत सकी है। इसके अलावा केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक को यह फायदा मिलने वाला है कि मुकाबला उनके होम ग्राउंड ईडन गार्डन में होगा। इस टीम ने अपने होम ग्राउंड में हैदराबाद के खिलाफ अबतक 6 मुकाबले खेले हैं, जिसमें उसे 5 मैचों में जीत हासिल हुई। हैदराबाद यहां सिर्फ एक ही मैच जीत पाई है, जो इस सीजन में 14 अप्रैल को खेला गया था। उन्होंने इस मैच में 5 विकेट से केकेआर को हराया था। 
PunjabKesari

पिछले सीजन में हैदराबाद को दिया था बड़ा झटका

केकेआर ने 2017 के सीजन के दाैरान भी हैदराबाद को एलिमिनेट मुकाबले में 7 विकेट से हराकर फाइनल की दाैड़ से बाहर किया था। यह मुकाबला 17 मई को चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला गया था। हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 128 रन बनाए। केकेआर जब लक्ष्य हासिल करने उतरी तो बारिश ने बाधा डाल दी। डकवर्थ लुईस नियम के तहत केकेआर को 6 ओवर में 48 रनो का लक्ष्य मिला। केकेआर ने 3 विकेट खोकर 5.2 ओवर में ही लक्ष्य हासिल कर लिया आैर हैदराबाद को फाइनल में पहुंचने की दाैड़ से बाहर कर दिया। हालांकि केकेआर भी क्वालिफायर-2 मुकाबले में मुंबई इंडियंस से हार गया था। फिर फाइनल मुकाबला मुंबई आैर पुणे के बीच हुआ। 

कमजोर साबित हुआ हैदराबाद का बल्लेबाजी क्रम
हैदराबाद के लिए अहम होगा कि वह अपनी बल्लेबाजी पर भी ध्यान दे और केवल गेंदबाजों पर निर्भर न रहे। उसका बल्लेबाजी क्रम अब तक कमजोर साबित हुआ है और वह कप्तान विलियमसन (685 रन) तथा शिखर धवन(437) पर ही निर्भर है। दूसरी ओर केकेआर के पास कप्तान कार्तिक(490), क्रिस लिन(443), रॉबिन उथप्पा(349) और सुनील नारायण(331), शुभम गिल और आंद्रे रसेल के रूप में जबरदस्त बल्लेबाज हैं तो गेंदबाजों में कैरेबियाई ऑलराउंडर सुनील(16 विकेट), कुलदीप यादव(15), पीयूष चावला(13), आंद्रे रसेल(13) जैसा जबरदस्त लाइनअप है।

.
.
.
.
.