Sports

नई दिल्लीः पुणे सिटी के मुख्य कोच रैंको पापोविक को आज इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के चार मैचों से निलंबित करने के अलावा पांच लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है। पापोविक ने 23 दिसंबर को एफसी गोवा के खिलाफ मैच के बाद अधिकारी के खिलाफ टिप्पणी की थी। पुणे ने इस मैच को 2-0 से जीता था। उनका निलंबन तत्काल प्रभाव से लागू होगा।  

आईएसएल ने एक बयान में कहा, ‘‘ एआईएफएफ की अनुशासन समिति ने एफसी पुणे सिटी के कोच पोपोविक को अनुच्छेद 50 ( मैच अधिकारी से बदतमीजी) और अनुछेद 58 (आक्रामक व्यवहार और निष्पक्ष खेल पर सवाल खड़ा करना) का दोषी पाया गया हैं। उन्होंने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन के दौरान मैच अधिकारी के खिलाफ बयान दिया।’’  उन्होंने कहा, ‘‘ पापोविक पर 5,00,000 रुपए जुर्माना लगाने के साथ उन्हें चार मैचों के लिए निलंबित किया गया है।’’   

चौहान ने साफ किया कि टीम दबाव महसूस नहीं कर रही है, क्योंकि उसका हालिया प्रदर्शन अच्छा रहा है, हालांकि टीम उसे जीत में नहीं बदल पाई है। उन्होंने साथ ही कहा कि आईएसएल इस तरह की लीग है जिसमें दो जीत आपको अंकतालिका में ऊपर पहुंचा सकती हैं और तीसरी जीत टीम को पहले स्थान पर पहुंचा सकती है।  वहीं मुंबई के कोच एलेक्जेंडर गुइमारेस ने कहा कि उनकी टीम लगातार दो मैच जीतने में असफल रही है। 

उन्होंने साथ ही माना कि आईएसएल इस तरह की लीग है जहां टीम कुछ जीत हासिल करते हुए रॉकेट की तरह अंकतालिका पर चढ़ जाती हैं। इसका सबसे अच्छा उदाहरण एटीके है, जो अपने पहले चार मैचों में अंकतालिका में सबसे नीचे थी, लेकिन अब पिछले दो मैचों में छह अंक हासिल करते हुए सातवें स्थान पर पहुंच गई है।  मुंबई सिटी के कोच ने कहा कि वह अहम समय पर वह किसी भी हालत में जीत हासिल कर सकती है, लेकिन दिल्ली की टीम एक जख्मी शेर है और वह किस तरह पलटवार करे कोई नहीं जानता। 


 

.
.
.
.
.