Sports

लंदनः पहला गोल होने के बाद हर्षातिरेक में नाचते कूदते इंग्लैंड के फुटबाॅलप्रेमियों को उस समय सांप सूंघ गया जब क्रोएशिया ने दो गोल करके उनकी टीम को सेमीफाइनल में 2-1 से हराकर विश्व कप जीतने का सपना तोड़ दिया। फूट फूटकर रो रही लौरा रूसोन ने कहा, ‘‘मैं बहुत दुखी हूं लेकिन मुझे अपनी टीम पर फख्र है।’’

PunjabKesari

इससे पहले इंग्लैंड ने जब शुरूआती बढत बना ली थी तब माहौल एकदम दीगर था। लोग एक दूसरे को बधाई दे रहे थे और खुशी से नाच रहे थे। मुराद हुसेनोव ने कहा, ‘‘मेरे जीवन में पहली बार इंग्लैंड सेमीफाइनल तक पहुंचा थ। लग रहा था मानो इतिहास रच डाला।’’

PunjabKesari

इंग्लैंड की मौजूदा टीम में से आधे से अधिक तो पैदा भी नहीं हुए थे जब इंग्लैंड ने आखिरी बार विश्व कप सेमीफाइनल खेला था। मैनेजर गेरेथ साउथगेट भी इंग्लैंड की एकमात्र विश्व कप जीत यानी 1966 के चार साल बाद पैदा हुए थे। 

PunjabKesari

हाइडे पार्क स्क्रीनिंग के लिये 30000 मुफ्त टिकट बांटे गए थे। यहां 94 मीटर बाय 11 मीटर की स्क्रीन लगाई गई थी और माहौल परिवारों के साथ बैठकर मैच देखने के लिये उपयुक्त था। पहले गोल के बाद बीयर के दौर शुरू हो गए और लोगों ने भावविभोर होकर राष्ट्रगीत गाना भी शुरू कर दिया। इसके बाद जब क्रोएशिया ने बराबरी का गोल दागा तो सभी खामोश हो गए।

PunjabKesari

एक प्रशंसक ने कहा, ‘‘हमने लंबे समय से ऐसा उतार चढाव नहीं देखा था। करीब तीन करोड़ लोग टीवी से चिपके हुए थे। घरों में, पब, बार, रेस्त्रां हर जगह बस मैच ही चल रहा था। पूरा देश एकजुट हो गया था।’’

.
.
.
.
.