Sports

गोल्ड कोस्ट : कॉमनवैल्थ गेम्स में पुरुष हॉकी के तहत भारत ने अपना पहला मैच पाकिस्तान के खिलाफ खेला। इसमें लीड के बावजूद भारतीय टीम से पाकिस्तान मैच 2-2 से ड्रा करवा ले गई। भारत के हाथ से आसान जीत निकलने पर हॉकी फैंस की नजरें सीधे पाकिस्तान के हॉकी कोच रोलेंट ओल्टमेंस पर टिक गई हैं। ओल्टमेंस अर्से तक भारतीय हॉकी के कोच रहे थे। ऐसे में भारतीय हॉकी टीम की कमजोरियों और क्षमताओं के बारे में वह पूरे जानकार थे। शायद इसी वजह से पदक की दावेदार समझी जा रही भारतीय टीम को अपने पहले ही मुकाबले में मनमाफिक सफलता नहीं मिल पाई। भारत के इस प्रदर्शन के बाद से सोशल मीडिया पर ओल्टमेंस को भारतीय हॉकी के विभिषण की तरह देखा जा रहा है। ओल्टमेंस ने भारत में लिए तजुर्बे का अपना पूरा फायदा पाकिस्तान टीम के लिए लगा दिया। जिसका फल उन्हें एक समय जीत रही भारतीय टीम को ड्रा पर रोकने से मिला। 
वहीं, मैच के बाद ओल्टमेंस ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि अब भारत का अध्याय समाप्त हो गया है। जब उनसे पाकिस्तान के बजाय दूसरी बार भारतीय टीम के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा- यह खुशगवार अध्याय था लेकिन अब यह बंद हो गया है।
हालांकि ओल्टमेंस ने यह भी कहा कि भारत ने हमारी गलतियों की अच्छी सजा दी। लेकिन मुझे लगता है कि हम भी इतने खराब नहीं थे। यह पूछने पर कि भारतीयों के लिये खराब दिन रहा तो ओल्टमेंस ने कहा- मैं नहीं जानता। मैं नहीं जानता कि उनके लिए दिन अच्छा रहा या खराब। उन्होंने निश्चित रूप से कुछ गलतियां कीं।