Sports

नई दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग में कार्यभार प्रबंधन को लेकर समान खाका नहीं हो सकता क्योंकि हर खिलाड़ी की जरूरतें अलग-अलग होती है। इस बात को लेकर काफी बहस हो रही है कि विश्व कप खेलने वाले खिलाड़ी आईपीएल में अपने कार्यभार का प्रबंधन कैसे करें। तेंदुलकर ने कहा- विश्व कप के लिए हर खिलाड़ी की तैयारी अलग होती है लिहाजा उसका कार्यभार प्रबंधन भी अलग होगा। उन्होंने कप्तान विराट कोहली की बात से सहमति जताई कि हर खिलाड़ी को खुद देखना होगा कि वह कितना कार्यभार ले सकता है और उसका फार्म कैसा है।  उन्होंने कहा- लय सबसे अहम है। हर खिलाड़ी को इतना चतुर होना चाहिए कि वह इसका आकलन कर सके कि उसे ब्रेक की जरूरत है या वह खेल सकता है। यह फैसला खिलाड़ी को खुद करना है।

तेंदुलकर ने कहा कि एक तेज गेंदबाज के तौर पर जसप्रीत बुमराह का कार्यभार विराट कोहली या महेंद्र सिंह धोनी जैसे बल्लेबाज या विकेटकीपर बल्लेबाज से बिल्कुल अलग होगा। इन सभी खिलाडिय़ों के पास अपार अनुभव है और वे सही फैसला लेंगे।

.
.
.
.
.