Sports

जालन्धर : भारत की इंगलैंड से 5 टैस्ट मैचों की सीरीज शुरू होने से पहले क्रिकेट इंगलैंड ने बल्लेबाज केटन जेनिंग्स का टीम में चुनकर सबको हैरान कर दिया था। इंगलैंड के लिए महज 6 टैस्ट खेले कीटन को भारत जैसी बड़ी टीम के खिलाफ दोबारा मौका देने के पीछे एक बड़ी वजह भी थे। यह वजह थी केटन का डैब्यू मैच में शतक लगाना। केटन ने भारत के खिलाफ 16 दिसंबर 2016 को मुंबई में खेले गए अपने डैब्यू टैस्ट मैच में शानदार 112 रन बनाए थे। इसके बाद से वह लगातार फेल हो रहे थे। लेकिन भारत के खिलाफ खेली गई इस पारी का कीटन का सीधा फायदा मिला। तभी तो केटन भारत के खिलाफ इस सीरीज में लगातार चौथा टैस्ट खेल रहे हैं। हालांकि केटन अभी तक बल्ले से कोई खास प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं लेकिन लगता है कि क्रिकेट इंगलैंड को अब भी उम्मीद है कि वह भारत के खिलाफ अपनी डैब्यू पारी जैसी परफार्मेंस दोबारा देंगे। पर हाल फिलहाल में कीटन इन उम्मीदों पर पूरे पड़ते नहीं दिख रहे हैं।

PunjabKesari

केटन अब तक 11 मैचों की 20 पारियों में महज 22 की औसत से 453 रन ही बना पाए हैं। इसमें एक शतक और एक अर्धशतक शामिल है। भारत के खिलाफ पहले टैस्ट में कीटन 42,8, दूसरे टैस्ट में 11, तीसरे टैस्ट में 20,13 तो चौथे टैस्ट में 0, 36 रन बनाकर अब तक फ्लॉप चल रहे हैं। ऐसे में कई दिग्गज क्रिकेटर उन्हें टीम में रखने पर सवाल उठा चुके हैं। केटन पिछली 16 पारियों से बतौर सलामी बल्लेबाज उतरकर एक भी पचासा नहीं लगा पाए हैं। ऐसा कर उन्होंने इंगलैंड के पूर्व सलामी बल्लेबाज माइक एर्थाटन की बराबरी की। एर्थाटन भी 1997-98 के दौरान लगातार 16 पारियों तक एक भी पचासा नहीं लगा पाए थे।

PunjabKesari

बिना फिफ्टी सर्वाधिक पारियां खेले वाले इंगलैंड के ओपनर
मार्क बुचर
(1998-01) 23 पारियां
जॉन एड्रिच (1971-75) 19 पारियां
माइक एर्थाटन (1997-98) 16 पारियां
केटन जेनिंग्स (2017-18) 16 पारियां
आर्थर श्राउस्बरी (1885-90) 15 पारियां
एलेक स्टीवर्ट (1994-95) 14 पारियां

.
.
.
.
.