Sports

नई दिल्ली: हितों के संभावित टकराव के कारण राहुल द्रविड़ ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में क्रिकेट प्रमुख का पद अभी तक नहीं संभाला है जबकि उन्हें एक जुलाई को पदभार ग्रहण करना था। द्रविड़ इंडिया सीमेंट के वैतनिक कर्मचारी हैं और बीसीसीआई संविधान के अनुसार कोई एक व्यक्ति एक समय में कई पदों पर नहीं रह सकता है। इससे यह पूर्व कप्तान हितों के टकराव के दायरे में आ जाता है।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ‘द्रविड़ ने अभी एनसीए में पदभार नहीं संभाला। उन्हें एनसीए से जुड़ने के लिए संभवत: इंडिया सीमेंट से त्यागपत्र देना होगा।' पिछले महीने बीसीसीआई के नैतिक अधिकारी डी के जैन ने वीवीएस लक्ष्मण के खिलाफ फैसला सुनाया था। इस पूर्व बल्लेबाज के कई पदों पर होने के कारण मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के सदस्य संजीव गुप्ता ने हितों के टकराव का आरोप लगाया था। गुप्ता ने जैन और प्रशासकों की समिति (सीओए) को 30 जून को लिखित शिकायत करके द्रविड़ के खिलाफ भी इसी तरह के आरोप लगाए थे। पूर्व भारतीय कप्तान और जूनियर टीम के कोच द्रविड़ को बेंगलुरू में एनसीए में दो साल के अनुबंध की पेशकश की गई है। इस नए पद का मतलब होगा कि वह भारत ए और अंडर-19 टीमों के साथ विभिन्न दौरों पर नहीं जा पाएंगे जैसा कि वह पहले किया करते थे। पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज पारस म्हाम्ब्रे और अभय शर्मा जूनियर टीम के सहयोगी स्टाफ का हिस्सा बने रहेंगे।
 

.
.
.
.
.