Sports

जालन्धर : ऑस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन टैस्ट क्रिकेट में 99.94 की औसत के लिए ही नहीं जाने जाते बल्कि उनके नाम पर एक ऐसा रिकॉर्ड भी है जो 88 साल बाद भी नहीं टूटा है। यह रिकॉर्ड है एक दिन में सर्वाधिक रन बनाने का। 11 जुलाई 1930 को ऑस्ट्रेलिया इंगलैंड के दौरे पर थी। लीड्स में तीसरा टेस्ट खेला जा रहा था जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया था। ऑस्ट्रेलिया की ओर से कप्तान वुडफुल और आर्ची जैक्सन ओपनिंग के लिए आए।
PunjabKesari
ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत खराब रही। जैक्सन केवल 1 रन बनाकर ही टेटे की गेंद पर लारवुड को कैच थमा बैठे। इसके बाद ब्रैडमैन की एंट्री ग्राऊंड में हुई। उन्होंने आते ही मैदान के चारों ओर शॉट लगाने शुरू कर दिए। इंगलैंड के तेज गेंदबाजों को तो उन्होंने जमकर धोया। इंगलैंड के चार गेंदबाज ऐसे थे जिन्होंने तीन से ज्यादा की औसत से रन दिए। ब्रैडमैन इस मैच में ऐसा छाए कि वुडफुल को रन बनाने का मौका ही नहीं मिला। ब्रैडमैन ने दिन के हर सेशन में शतक लगाया। उन्होंने दिन मेें करीब छह घंटे बल्लेबाजी कर 309 रन बनाए। यह एक दिन में बनाए गए सर्वाधिक रनों का सर्वेश्रेष्ठ रिकॉर्ड है, जोकि 88 साल बाद भी नहीं टूटा है।
PunjabKesari
ब्रैडमैन ने मैच में कुल 334 रन बनाए थे। इसके लिए उन्होंने 448 गेंदों का सामना कर 46 चौके जड़े थे। उनकी स्ट्राइक रेट 74.55 रही थी जोकि टैस्ट क्रिकेट के हिसाब से शानदार थी। ब्रैडमैन ने इंगलैंड के सभी प्रमुख गेंदबाजों लारवुड और टेटे को जमकर धोया। लारवुड ने जहां अपने 33 ओवर में 139 रन दिए तो वहीं टेटे ने 39 ओवरों में 124 रन गंवा दिए।

सहवाग चूके थे ब्रैडमैन का रिकॉर्ड तोडऩे से
PunjabKesari
2009 में भारतीय बल्लेबाज वरेंद्र सहवाग ब्रैडमैन का यह यूनीक रिकॉर्ड तोडऩे के करीब पहुंच गए थे जब उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ मुंबई के मैदान में नाबाद 284 रन ठोक दिए थे। अगर उस दिन सहवाग 26 रन और बना देते तो वह एक दिन में सर्वाधिक रन बनाने का ब्रैडमैन का रिकॉर्ड तोड़ देते। बता दें कि सहवाग के नाम पर एक दिन में सर्वाधिक तीन बार टैस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने का रिकॉर्ड है।

.
.
.
.
.