Sports

न्यूयार्कः दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी राफेल नडाल के चोटिल हाने के कारण मैच बीच में छोडऩे से अर्जेंटीना के तीसे वरीय जुआन मार्टिन डेलो पात्रो अमेरिकी ओपन के फाइनल में पहुंच गये जहां उनका समाना नोवाक जोकोविच से होगा।           

नडाल जब इस मैच से हटे उस समय 2009 के चैम्पियन डेल पोत्रो 7-6, 6-2 से आगे थे। फाइनल में उन्हें 2011 और 2015 के चैम्पियन जोकोविच की चुनौती से पार पाना होगा जो आठवीं बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे है। जोकोविच ने जापान के केई निशिकोरी को 6-3, 6-4, 6-2 से शिकस्त देकर अपने 23वें ग्रैंड स्लैम फाइनल में जगह पक्की की।          

दोनों खिलाडिय़ों के बीच हुए मुकाबलों में जोकोविच का पलड़ा भारी रहा है जिन्होंने 14 मुकाबलों में जीत दर्ज की है जबकि डेल पोत्रो चार में ही जीत दर्ज कर सके है। जोकोविच ने अमेरिकी ओपन में डेल पात्रो को 2007 और 2012 में दो बार बिना सेट गंवाए हराया है। पिछले साल चोट के कारण टूर्नामेंट से दूर रहने वाले डेल पोत्रो ने कहा,‘‘ हम एक दूसरे के खिलाफ ग्रैंड स्लैम फाइनल में कभी नही खेले। मैं एक खिलाड़ी और व्यक्ति के तौर पर उनका काफी सम्मान करता हूं। वह महान खिलाड़ी है। वह चोटिल होता रहा है लेकिन वह बड़ा खिलाड़ी है।’’

मैच बीच में छोड़कर हटना पसंद नहीं
PunjabKesari
नडाल ने कहा, ‘‘मुझे मैच बीच में छोड़कर हटना पसंद नहीं है। जब एक खिलाड़ी खेल रहा हो और दूसरा कोर्ट के बाहर हो तो इसे टेनिस मुकाबला नहीं कहा जा सकता।’’ नडाल ने इससे पहले बुधवार को लगभग पांच घंटे चले क्वार्टरफाइनल मैच में डोमिनिक थिएम को हराया था। विम्बलडन चैम्पियन जोकोविच ने निशिकोरी के खिलाफ 17 मैचों में 15वीं जीत दर्ज की। अगर वह इस खिताब जीत कर पीट सम्पास की बराबरी करना चाहेंगे।          

.
.
.
.
.