Sports

कोलकाता : भारतीय कप्तान महेश भूपति ने कहा कि उनके खिलाड़ी इटली के खिलाफ डेविस कप क्वालीफायर के पहले दिन मौकों का फायदा उठाने में नाकाम रहे जिससे मेहमान टीम 2-0 से बढ़त हासिल करने में सफल रही। रामकुमार रामनाथन को दूसरे गेम में ही ब्रेक प्वाइंट मिला लेकिन विश्व में 37वें नंबर के आंद्रियास सेप्पी ने अपने अनुभव का पूरा फायदा उठाकर अपनी सर्विस बचा दी। इसके बाद भी उन्होंने कुछ मौके गंवाए।

भूपति ने रामकुमार के बेहतर स्थिति में होने के बावजूद रक्षात्मक होकर खेलने के बारे में कहा- जब आप बेहद अनुभवी खिलाड़ी के खिलाफ खेल रहे होते हों तो आपको मौकों का फायदा उठाना होता है। उन्होंने कहा- मेरा मानना हैै कि जब आप मौकों को भुनाते हो तो आप फायदे की स्थिति में रहते हो। यहीं से आप लय पकड़ सकते हैं।

भूपति ने स्वीकार किया कि उनके खिलाड़़ी दबाव में था और शीर्ष खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन ने भी उनकी हां में हां मिलाई। भूपति ने कहा- देश की तरफ से खेलने का दबाव होता है। टीम में हमारा काम सभी को सहज बनाए रखना है और हम जीत भी दर्ज करना चाहते हैं। प्रजनेश ने कहा- मैं दबाव में था। यह मेरे लिए सीख है। मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। सेप्पी ने आज अच्छा प्रदर्शन किया। वह जीत का हकदार था।

.
.
.
.
.