Sports

जालन्धर : दंगल गर्ल गीता फोगाट ने हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर पर बड़ा आरोप लगाया है। गीता का कहना है कि 2012 के बाद से बड़े टूर्नामैंट को छोड़कर बाकी किसी भी टूर्नामैंट में उन्हें प्रस्तावित ईनामी राशि नहीं दी गई। गीता के इस आरोप पर शनिवार को खुद मंत्री अनिल विज आगे आए। कहा- सारे आरोप गलत है। हमारी सरकार ने पिछले साल लगभग पौने 200 करोड़ पर बांटे थे। फोगाट सिस्टर्स को भी उनकी ईनामी राशि मिल गई होंगी। 

मंत्री अनिल विज के इस दावे पर गीता नहीं रुकी। एक के बाद एक ट्विट कर उन्होंने मंत्री विज को फिर से घेरा। उन्होंने लिखा- सच तो ये है कि अभी तक बड़े टूर्नामैंट को छोड़कर 2012 के बाद हमें ईनामी राशि नहीं मिली। अगर ऐसा है तो स्पोट्र्स डिपार्टमैंट उन्हें क्यों बार-बार फॉर्म भरने को कहता है। अगर हम झूठ बोल रहे हैं तो स्पोट्र्स डिपार्टमैंट इसका प्रूफ दिखाए।

गीता यही नहीं रुकी। वह तब बौखला गई जब एक फैंस ने उन्हें भारतीय सैनिकों के नाम पर नसीहत दे दी। शुभम सौरभ नामक ट्विटर हैंडलर ने लिख दिया कि- मैडम जी, बॉर्डर पर सैनिक लड़ रहे हैं और आपको ईनामी की पड़ी है। इस पर गीता ने भी खरी-खरी सुनानी शुरू कर दी। अपने ट्विट में गीता ने लिखा- तो आप यहां ट्विटर पर क्या कर रहे हैं? सैनिक देश की रक्षा के लिए लड़ते हैं और हम भी देश के लिए खेलते हैं हम अपनी-अपनी फील्ड में देश का मान बढ़ाते हैं। और आप जैसे लोगों के बस में खुद तो कुछ करना नहीं है और जो करते हैं वो हजम नहीं होता।

गीता ने एक और फैंस के ट्विट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कभी लंगोट बांधकर अखाड़े में जाकर देखना हवा टाइट हो जाएगी? हम दिन-रात मेहनत करते हैं तब मेडल आते हैं... और हम हमारे देश के जवानों की दिल से इज्जत करते हैं उनकी वजह से हम चैन से जी रहे हैं

गीता के समर्थन में आए मनवीर गुर्जर ने भी ट्विट कर कहा- ये तो हाल है। वोट के टाइम पर और वुमैन डे पर नारी शक्तियाद आ आती है। गेम्स में गोल्ड तो चाहिए पर देश का गौरव बढ़ाने के लिए। मगर उसके बाद आपका हौसला बढ़ाने के लिए कोई कुछ नहीं करता। ईनाम एक राशि नहीं एक मोटिवेशन और फाइनेंशियल इंकर्जमैंट है कुछ अच्छा करने की।
#RespectPlayers

.
.
.
.
.