Sports

गोल्ड कोस्टः विश्वसनीय जीतू राय की पिस्टल से खेलों के नए रिकाॅर्ड के साथ स्वर्ण पदक निकला जबकि बैडमिंटन मिश्रित टीम और पुरूषों की टेबल टेनिस टीम ने भी नया इतिहास रचते हुए सोने के तमगे हासिल किए और इस तरह से भारत 21 वें राष्ट्रमंडल खेलों के पांचवें दिन व्यक्तिगत और टीम स्पर्धाओं में अपनी चमक बिखेरने में सफल रहा। भारोत्तोलकों ने अपने शानदार अभियान का अंत प्रदीप सिंह (105 किग्रा ) के रजत पदक से किया। भारत ने भारोत्तोलन में पांच स्वर्ण , दो रजत और दो कांस्य पदक जीते और वह इस खेल की तालिका में शीर्ष पर रहा।            

जीतू ने स्वर्ण पदक जीतने की शुरूआत की
ओवरआल पदक तालिका में भारत दस स्वर्ण, चार रजत और पांच कांस्य पदक लेकर तीसरे स्थान पर पहुंच गया। भारत के लिए पांचवां दिन काफी अच्छा रहा। उसने आज तीन स्वर्ण , दो रजत और एक कांस्य पदक अपने नाम किया। जीतू ने स्वर्ण पदक जीतने की शुरूआत की। उन्होंने 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में क्वालीफाईंग के लचर प्रदर्शन को भुलाकर फाइनल में 235.1 के स्कोर के साथ नया रिकार्ड बनाया। भारत के ही ओमप्रकाश मिठारवाल को इस स्पर्धा का कांस्य पदक मिला। राय ने कहा, ‘‘क्वालीफाईंग राउंड में मैं अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया क्योंकि मुझे काफी पसीना आ रहा है। मैं नर्वस था और यही नहीं मेरे ट्रिगर का टाइमिंग भी बंद था। लेकिन एक बार जब कोच ने मुझे टाइमिंग को लेकर मेरी गलती बतायी तो मैंने उसमें सुधार किया और फाइनल में बेहतर परिणाम हासिल किया।’’           

टेबल टेनिस और बैडमिंटन दोनों में इतिहास रचा गया
सत्रह बरस की मेहुली घोष ने महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल में रजत जबकि अपूर्वी चंदेला ने कांस्य पदक जीता। मेहुली और सिंगापुर की माॢटना लिंडसे वेलोसो ने 247.2 का रिकार्ड स्कोर बनाया लेकिन भारतीय निशानेबाज शूट आफ में चूक गयी। टेबल टेनिस और बैडमिंटन दोनों में इतिहास रचा गया। बैडमिंटन टीम ने तीन बार के मौजूदा चैंपियन मलेशिया को हराकर पहली बार इन खेलों में सोने का तमगा जीता जबकि टेबल टेनिस टीम ने पहले सेमीफाइनल में गत चैंपियन सिंगापुर को शिकस्त दी और फिर नाईजीरिया को हराकर स्वर्ण पदक हासिल किया। भारोत्तोलन प्रतियोगिता के आखिरी दिन प्रदीप कुमार मामूली अंतर से स्वर्ण पदक से चूक गए। उन्होंने 352 किग्रा (152 किग्रा +200 किग्रा) भार उठाकर दूसरा स्थान हासिल किया। पदकों के अलावा कुछ अन्य परिणाम भी भारत के अनुकूल रहे। पुरुष 400 मीटर दौड़ में मोहम्मद अनस 45 .44 सेकेंड की अपनी सेमीफाइनल हीट जीतकर फाइनल में जगह बनाने में सफल रहे। उनका निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 45 .40 सेकेंड है। फाइनल कल होगा।

शंकर ग्रुप ए में संयुक्त पांचवें और कुल नौवें स्थान पर रहे
राष्ट्रीय रिकार्ड धारक तेजस्विन शंकर क्वालीफाइंग राउंड में नौवें स्थान पर रहते हुए ऊंची कूद के फाइनल में जगह बनाने में सफल रहे। शंकर ग्रुप ए में संयुक्त पांचवें और कुल नौवें स्थान पर रहे। भारतीय खिलाड़ी ने 2.10 मीटर के प्रयास के साथ शुरुआत करते हुए 2.21 मीटर की कूद लगाई। कोई भी प्रतिस्पर्धी 2.27 मीटर के आधिकारिक स्तर को हासिल नहीं कर पाया। फाइनल के लिए क्वालीफाई करने वाले 12 खिलाडिय़ों में सर्वश्रेष्ठ प्रयास 2.21 मीटर का रहा। महिला 400 मीटर हीट में भारत की हिमा दास 52.11 सेकेंड के समय के साथ सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रही। वह कुल आठवें स्थान पर रही।

गौरव सोलंकी और मनीष कौशिक पहुंची क्वार्टर फाइनल में
मुक्केबाजी में पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में भाग ले रहे गौरव सोलंकी (52 किलो) और मनीष कौशिक (60 किलो) ने क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। सोलंकी ने घाना के अकिमोस अनांग एम्पिया को 5.0 से जबकि कौशिक ने त्रिनिदाद और टोबैगो के माइकल अलेक्जेंडर को 4.0 से हराया। कुछ स्पर्धाओं में निराशा भी हाथ लगी। सूर्या लोगनाथन अपना निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के बावजूद महिलाओं की 10000 मीटर दौड़ में 32 मिनट 23.96 सेकेंड के समय के साथ 13वें स्थान पर रही जबकि गोला फेंक में तेजिंदर पाल सिंह तूर उम्मीद पर खरा उतरने में नाकाम रहे और 19.42 मीटर गोला फेंककर आठवें स्थान पर रहे। 

.
.
.
.
.