Sports

मेलबर्न: गेंद से छेडख़ानी मसले की एक समीक्षा रिपोर्ट में क्रिकेट आॅस्ट्रेलिया के ‘अभिमानी’ और ‘दूसरों पर काबू करने वाले’ रवैये की निंदा की और कहा कि इसी वजह से जीत के लिए खिलाड़ी धोखेबाजी तक पर आमादा हो गए । सिडनी के एथिक्स सेंटर ने क्रिकेट आॅस्ट्रेलिया पर आरोप लगाया कि खेलभावना बनाए रखने के लिए उसने सिर्फ बातें की है लेकिन खिलाडिय़ों को नैतिकता का पाठ नहीं पढाया ।
PunjabKesari
सोमवार को प्रकाशित समीक्षा में कहा गया, ‘न्यूलैंड्स में हुई शर्मनाक घटना के लिए सिर्फ खिलाडिय़ों को कसूरवार नहीं ठहराया जा सकता । क्रिकेट आॅस्ट्रेलिया की बड़ी जिम्मेदारी है।’ केपटाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम पर पिछले साल मार्च में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट में आॅस्ट्रेलियाई खिलाडिय़ों को गेंद पर रेगमाल रगड़ते पाया गया था । इसके बाद कोच डेरेन लीमैन ने इस्तीफा दे दिया जबकि तत्कालीन कप्तान स्टीव स्मिथ, उपकप्तान डेविड वार्नर और बल्लेबाज कैमरून बेनक्रोफ्ट पर प्रतिबंध लगाया गया।
PunjabKesari
क्रिकेट आॅस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड और टीम परफार्मेंस निदेशक पैट हावर्ड को भी अपनी नौकरियां गंवानी पड़ी । समीक्षा में कहा गया, ‘अधिकांश संबंधित पक्षों का मानना है कि क्रिकेट आॅस्ट्रेलिया अपने सिद्धांतों और मूल्यों पर लगातार अमल नहीं कर रहा है । उसकी कथनी और करनी में अंतर है । उसका रवैया अभिमानी और दूसरों पर काबू करने वाला है ।’ क्रिकेट आॅस्ट्रेलिया के नए चेयरमैन डेविड पीवेर ने कहा,  ‘आॅस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए यह कठिन समय है। गलतियां हुई है और सबक सीखे गए हैं। बदलाव का दौर जारी रहेगा ।’