IPL 2019
Sports

जालन्धर : कम से कम एक दशक से इंगलैंड टीम के लिए टैस्ट क्रिकेट में ओपनिंग कर रहे एलिस्टेयर कुक की मौजूदा फॉर्म आजकल चर्चा का विषय बन रही है। इंगलैंड के लिए लगातार 159 टैस्ट मैच खेलकर रिकॉर्ड बना चुके कुक इस साल कुछ खास कमाल नहीं दिखा पा रहे हैं। यही वजह है कि इंगलैंड टीम टैस्ट रैंकिंग में फिसल गई है। 33 साल के कुक इंगलैंड की तरफ से 32 शतक लगाने के साथ 12 हजार से ज्यादा रन बना चुके हैं। दर्जनों रिकॉर्ड उनके नाम पर है। लेकिन इसी बीच कुक के नाम एक ऐसा भी रिकॉर्ड धीरे-धीरे दर्ज हो रहा है जो बेहद शर्मनाक कहा जा सकता है। इससे सीधे तौर पर क्रिकेट इंगलैंड को प्रदर्शन के आधार पर घाटे का सामना करना पड़ रहा है।

PunjabKesari

दरअसल जून 2017 से लेकर अब तक यानी कि 36 पारियों में इंगलैंड के सलामी बल्लेबाज पहले विकेट के लिए 100 से ज्यादा की पार्टनरशिप नहीं कर पाए हैं। क्योंकि कुक इंगलैंड टीम के रैगुलर ओपनर हैं ऐसे में उनका विफल होना इंगलैंड टीम को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने से रोक रहा है। गौर हो कि इससे पहले भी कुक खराब फॉर्म से गुजरे थे। मोर्च 2013 से लेकर अप्रैल 2015 के इस वक्त के दौरान कुक बल्ले से लगातार असफल हो रहे थे। तब ऐसे 40 मौके आए जब वह अपने सलामी बल्लेबाज साथी के साथ 100 से ज्यादा रन की पार्टनरशिप नहीं कर सके।

PunjabKesari

बता दें कि ओपनिंग बल्लेबाजों की असफलता इंगलैंड के लिए कोई नई समस्या नहीं है। समय रहते इंगलैंड ने ऐसी कई समस्याओं का सामना किया है। ऐसा नहीं है कि दुनिया के बाकी क्रिकेट खेलते देशों को ऐसी  स्थिति से गुजरना नहीं पड़ता। लेकिन यह समस्या जब इंगलैंड क्रिकेट पर आती है तो इसका सबको विकराल रूप देखने को मिलता है। इंगलैंड जब भी ऐसी समस्या से दो-चार हुआ तो ऐसे सुधारने के लिए लंबा वक्त मिला। फरवरी 1954 से लेकर जून 1956 तक 36 तो इससे पहले मई 1905 से लेकर मई 1909 तक 34 पारियों तक इंगलैंड के सलामी बल्लेबाज 100 रन की पार्टनरशिप नहीं बना पाए थे। 

PunjabKesari

 

.
.
.
.
.