Sports

लंदनः केविन पीटरसन को जिस तरीके से टीम से बाहर किया गया था, उसका अफसोस इंग्लैंड के ओपनर एलिएस्टर कुक को आज भी है। कुक ने भारत के खिलाफ तीसरा टेस्ट जीतने के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की। चाैथा टेस्ट उनका आखिरी मैच होगा जो 7 सितंबर को ओवल में खेला जाएगा।
PunjabKesari

पीटरसन को ऐसे बाहर करना अच्छा नहीं था
पीटरसन को लेकर कुक ने बयान देते हुए माना कि 2013-14 की एशेज सीरीज के दौरान पीटरसन को बाहर करने का तरीका और बेहतर हो सकता था। यह बहुत कठिन साल था और पीटरसन को इस तरह बाहर करना मेरे लिए और इंग्लिश क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं था। मैं फाइनल निर्णय किए बगैर भी इस फैसले में शामिल था।
PunjabKesari

बता दें कि साल 2014 में केविन पीटरसन को इंग्लैंड की टीम से बोर्ड से हुई अनबन के बाद बाहर किया गया था। कुक और तत्कालीन टीम सिलेक्टर एंड्रयू स्ट्रॉस दोनों ने मिल कर पीटरसन को बाहर का रास्ता दिखाया था। इस बात का जिक्र पीटरसन ने ट्वीट कर सोशल मीडिया पर भी किया था। कुक ने अपने इस फैसले को साहसिक फैसला भी बताया।
PunjabKesari

.
.
.
.
.