Sports

नई दिल्ली : मुंबई इंडियंस ने इतने सालों में देश को कई इंटरनेशनल स्टार खिलाड़ी दिए हैं। हार्दिक पांड्या और जसप्रीत बुमराह मुंबई इंडियंस की ही खोज माने जाते हैं जो आज इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना डंका बजा रहे हैं। अब एक अोर नया खिलाड़ी इस लिस्ट में शमिल हो गया है। भले ही मुंबई इंडियंस अपने पहले दो मुकाबलों में चेन्नई सुपरकिंग्स और सनराइजर्स हैदराबाद से हार का सामना करना पड़ा हो। लेकिन टीम के लिए सबसे बड़ी ताकत युवा लेग स्पिनर मयंक मार्कंडे का प्रदर्शन रही

पहले ही मैच में लिया था धोनी का विकेट
पहले मैच में एमएस धोनी का विकेट लिया। धोनी को आउट करने के बाद मार्कंडे रातों-रात सुपरस्टार बन गए। मार्कंडे ने सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ अपना प्रदर्शन अधिक सुधारा और चार ओवर में 23 रन देकर चार विकेट चटकाए।
PunjabKesari
इसमें शिखर धवन जैसा धाकड़ नाम शामिल रहा।

क्या था मयंक मार्कंडे के कोच का गुरू मंत्र
मुंबई इंडियंस ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें युवा गेंदबाज के कोच ने उनकी सफलता की कहानी बताई है। मार्कंडे के कोच महेश इंदर सिंह सोधी ने कहा, 'जब शुरुआत में वह एकेडमी में आया तो तेज गेंदबाजी करता था। फिर बीच-बीच में वह धीमी गति की गेंद डालता थी।
PunjabKesari
वह अपने हाथ के पीछे से गूगली करता था। मेरे दिमाग में आया कि अगर उसे लेग ब्रेक गेंदबाज बना दें तो वह अच्छा गेंदबाज बन सकता है। यही उसके काम आया। गूगली उसका नेचुरल हथियार है।'

.
.
.
.
.