Sports

नई दिल्लीः प्रशासकों की समिति (सीओए) प्रमुख विनोद राय ने आज भारतीय क्रिकेट टीम के आस्ट्रेलिया के आगामी दौरे पर गुलाबी गेंद से दिन-रात्रि के क्रिकेट खेलने के नहीं फैसले का समर्थन किया।           

राय ने इतिहासकर बोरिया मजूमदार की किताब विमोचन के मौके पर कहा, ‘‘इसमें क्या गलत है, अगर हम सारे मैच जीतना चाहते हैं? जो भी टीम पिच पर उतरती है, वो जीतना चाहती है। 30 साल पहले वे कहते थे कि भारत केवल ड्रा के लिये टेस्ट मैच खेलता है लेकिन अब वे ऐसा नहीं कहते। ’’     

बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी ने बोर्ड के फैसले का समर्थन किया। उन्होंने कहा, ‘‘जब तक भारतीय खिलाड़ी यह नहीं कहते कि वे दिन-रात्रि मैच खेलने के लिए तैयार हैं, तब तक कोई दिन-रात्रि मैच नहीं होंगे। ’’

BCCI के फैसले से हरभजन हैरान
वहीं दूसरी तरफ बीसीसीआईर के इस फैसले से भारतीय स्पिनर हरभजन सिंह हैरान हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे नहीं पता कि वे दिन रात्रि टेस्ट मैच क्यों नहीं खेलना चाहते हैं। यह दिलचस्प प्रारूप है और हमें इसे अपनाना चाहिए। मैं पूरी तरह से इसके पक्ष में हूं। ’’ उन्होंने कहा , ‘‘ मुझे बताइए कि गुलाबी गेंद से खेलने को लेकर क्या आशंकाएं हैं। अगर आप खेलते हो तो आप सामंजस्य बिठा सकते हो। हो सकता है कि यह उतना मुश्किल न हो जितना माना जा रहा है। ’’

.
.
.
.
.