Sports

लंदनः टेनिस इंटीग्रिटी इकाई (टीआईयू) ने घोषणा की कि चीन की पूर्व नंबर एक युगल स्टार पेंग शुआई को अपनी युगल जोड़ीदार को विंबलडन 2017 से हटने को बाध्य करने के प्रयास के लिए छह महीने के लिए प्रतिबंधित किया गया और उन पर 10,000 डालर का जुर्माना लगाया गया है।         

टीआईयू ने बयान में कहा, ‘‘पाया गया कि पेंग शुआई ने अपनी मुख्य ड्रा की जोड़ीदार को विंबलडन 2017 की महिला युगल स्पर्धा से हटने के लिये सहमत करने के मद्देनजर वित्तीय राशि की पेशकश करने की कोशिश की थी और दबाव बनाया था। ’’ इसके अनुसार, ‘‘हालांकि इस पेशकश को ठुकरा दिया गया था और पेंग शुआई ने इसके बाद चैम्पियनशिप में भाग नहीं लिया लेकिन यह टेनिस भ्रष्टाचार रोधी कार्यक्रम (टीएसीपी) का उल्लघंन है।’’
PunjabKesari

बत्तीस वर्षीय पेंग पर छह महीने का प्रतिबंध और 10,000 डालर का जुर्माना लगाया गया जिसमें अगर वह भ्रष्टाचार रोधी संहिता का कोई उल्लघंन नहीं करती हैं तो उन पर तीन महीने का प्रतिबंध और 5,000 डालर निलंबित रहेगा। वह इस साल दोबारा आठ नवंबर को खेल सकेंगी। चीन की यह खिलाड़ी इस समय युगल में 20वीं और एकल में 80वीं रैंकिंग पर काबिज हैं। वह फरवरी 2014 में नंबर एक रैंकिंग की युगल खिलाड़ी थी और उन्होंने एकल में सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग अगस्त 2011 में 14वें स्थान पर पहुंचकर हासिल की थी। टीआईयू ने कहा कि पेंग के पूर्व कोच फ्रांस के बट्र्रांड पेरेट को भी इसी मामले में तीन महीने के लिये प्रतिबंधित किया गया है।          

.
.
.
.
.