Sports

सिडनी: ऑस्ट्रेलिया से पहला वनडे हारने से कुछ निराश भारतीय कप्तान विराट कोहली ने शनिवार को कहा कि लक्ष्य की ओर सधे हुए अंदाका में बढ़ रही भारतीय टीम के लिए महेंद्र सिंह धोनी का आउट होना निर्णायक रहा। भारत ने 289 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए एक समय अपने तीन विकेट मात्र चार रन पर गंवा दिए थे लेकिन इसके बाद रोहित शर्मा और धोनी के बीच 137 रन की साझेदारी से भारत सुखद स्थिति में दिखाई दे रहा था। लेकिन इसी समय धोनी के आउट होने से मैच का नक्शा बदल गया।
PunjabKesari
विराट ने मैच के बाद कहा, ‘रोहित ने शानदार शतकीय पारी खेली और एमएस ने भी उनका अच्छा सहयोग दिया। लेकिन मुझे लगता है कि उनकी साझेदारी से हम जिस लय में थे उससे हम बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे। रोहित और एमएस ने मैच को काफी खींचा लेकिन तभी एमएस ऐसे मोड़ पर आउट हो गए जब हमें उनके टिके रहने की जरूरत थी।’ धोनी पगबाधा आउट हुए थे, यदि भारत के पास उस समय रेफरल होता तो धोनी बच सकते थे। लेकिन भारत के पास रेफरल बचा नहीं था और धोनी को वापिस पवेलियन लौटना पड़ा। विराट ने कहा, ‘इनकी साझेदारी के बाद यदि हमें एक और अच्छी साझेदारी मिल जाती तो हम लक्ष्य के करीब पहुंच सकते थे। लेकिन तीन विकेट जल्द गंवाना हमें भारी पड़ा।’
PunjabKesari
कप्तान ने साथ ही कहा, ‘ऑस्ट्रेलियाई टीम प्रोफेशनल है और उसने हमें वापसी का मौका नहीं दिया। मुझे लगता है कि हमें इस मैच को ऐसे दिन के रूप में देखना होगा जहां ऑस्ट्रेलिया हमसे बेहतर खेले। हम परिणाम को लेकर ज्यादा तनाव में नही हैं और इस तरह की चीजें आपको एक बेहतर टीम के रूप में काम करने में मदद करती हैं।’ विराट ने गेंदबाजी प्रदर्शन पर संतोष जताया लेकिन वह बल्ले से निराश नकार आए। उन्होंने कहा, ‘इस विकेट पर 300 से अधिक का स्कोर बन सकता था और 288 के स्कोर को हासिल किया जा सकता था। लेकिन शुरूआत में ही तीन विकेट गंवाने से टीम को एक लय नहीं मिल सकी।’

.
.
.
.
.