Sports

नई दिल्ली : भारत के अनुभवी युगल खिलाड़ी रोहन बोपन्ना इस साल लगातार खराब प्रदर्शन के कारण पिछले नौ वर्षों में अपने करियर की सबसे खराब रैंकिंग और टॉप 50 से बाहर होने के कगार पर पहुंच गए हैं। बोपन्ना का फ्रेंच ओपन में निराशाजनक प्रदर्शन रहा और वह ताजा एटीपी रैंकिंग में नौ स्थान गिर कर 49वें नंबर पर खिसक गए। इससे पहले 21 जून 2010 को बोपन्ना 52वीं रैंकिंग पर थे। बोपन्ना ने वर्ष 2019 की शुरुआत 32वें स्थान के साथ की थी और अब वह 49वें नंबर पर पहुंच गए हैं।

फ्रेंच ओपन में अन्य भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा था। दिविज शरण तीन स्थान गिरकर 42वें नंबर पर पहुंचे हैं लेकिन शीर्ष युगल भारतीय बने हुए हैं। जीवन नेदुनचेझियन का 72वां स्थान बरकरार है। लिएंडर पेस को तीन स्थान का फायदा हुआ है और वह 77वें नंबर पर पहुंचे हैं। पूरव राजा एक स्थान गिरकर 83वें नंबर पर खिसके हैं। एकल रैंकिंग में प्रजनेश गुणेश्वरन तीन स्थान गिरकर 91वें और रामकुमार रामनाथन चार स्थान गिरकर 147वें नंबर पर खिसके हैं।

विश्व रैंकिंग में वर्ष के दूसरे ग्रैंड स्लेम फ्रेंच ओपन की नयी चैंपियन ऑस्ट्रेलिया की एश्ले बाटर्ी नंबर दो खिलाड़ी बन गई हैं। बाटर्ी ने छह स्थान की छलांग लगाई और नंबर दो स्थान पर पहुंच गईं। जापान की नाओमी ओसाका का पहला स्थान बना हुआ लेकिन उनके और बाटर्ी के अंकों में फासला बहुत कम होे चुका है। ओसाका के 6486 और बाॅर्टी 6350 अंक हैं। दोनों के बीच अब मात्र 136 अंकों का फासला रह गया है। 19 वर्षीय वोंड्रोसोवा ने फाइनल में पहुंचने के अपने प्रदर्शन की बदौलत 22 स्थान की लंबी छलांग लगाई और 16वें नंबर पर पहुंच गईं। सेमीफाइनलिस्ट ब्रिटेन की जोहाना कोंटा टॉप 20 में और अमांडा एनिसिमोवा टॉप 30 में पहुंच गई हैं। कोंटा आठ स्थान की छलांग के साथ 18वें और एनिसिमोवा 25 स्थान की छलांग के साथ 26वें नंबर पर पहुंच गई हैं।

पुरुष वर्ग में शीर्ष आठ स्थानों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। सेमीफाइनल में हारने वाले सर्बिया के नोवाक जोकोविच 12715 अंकों के साथ नंबर एक बने हुए हैं जबकि 12वीं बार फ्रेंच ओपन का खिताब जीतने वाले स्पेन के राफेल नडाल 7945 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर हैं। सेमीफाइनल में हारने वाले स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर 6670 अंकों के साथ तीसरे और नडाल से हारकर उपविजेता रहे ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थिएम 4685 अंकों के साथ चौथे स्थान पर हैं। 

.
.
.
.
.