Sports

पुणे: आईसीसी एलीट पैनल के मैच रैफरी क्रिस ब्रॉड शनिवार को यहां भारत और वेस्टइंडीज बीच खेले जा रहे तीसरे एकदिवसीय मैच के दौरान 300 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच पूरे करने वाले दूसरे मैच रैफरी बन गए है। इंग्लैंड के ब्राड ने रैफरी के तौर पर अपने कैरियर की शुरूआत 2004 में आकलैंड से की थी। इस मामले में श्रीलंका के रंजन मदुगले उनसे आगे है जिन्होंने 336 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में रैफरी की भूमिका निभाई है। इस सूची में तीसरे स्थान पर न्यूजीलैंड के जेफ क्रो है जो 270 वनडे में मैच रैफरी रहे है। भारत के जवागल श्रीनाथ ने 212 और संन्यास ले चुके श्रीलंका के रोशन महानामा ने 222 मैचों में यह भूमिका निभाई है।
PunjabKesari
ब्राॅड ने इसके अलावा 98 टेस्ट मैचों में भी रैफरी की भूमिका निभाई है और वह अगले साथ टेस्ट मैचों का सैकड़ा पूरा करने वाले दूसरे रैफरी बनेंगे। यहां भी पहले स्थान पर मदुगले है। ब्राॅड ने कहा, ‘इतनी लंबी अवधि तक इस खेल के साथ सक्रिय रूप से जुडे होने पर खुद को सम्मानित और अविश्वसनीय रूप से भाग्यशाली मान रहा हूं।
PunjabKesari
300 मेरे लिए सिर्फ आंकड़ा नहीं है लेकिन यह उनकी भी कहानी है जिन्होंने इसमें योगदान दिया ताकि मै अपने सपने को पूरा कर सकूं।’ ब्राॅड ने 1984 से 1989 तक इंग्लैंड के लिए 25 टेस्ट और 34 एकदिवसीय मैचों में खेला है। क्रिस ब्राॅड इंग्लैंड के मौजूदा टेस्ट टीम के नियमित सदस्य तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राॅड के पिता है।           

.
.
.
.
.