Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: मशरफे मुर्तजा बांग्लादेश टीम के कप्तान होने के साथ ही उनके प्रमुख गेंदबाज भी हैं। वैसे उन्हें एक गेंदबाजी ऑलराउंडर कहना ठीक रहेगा, जो निचले क्रम में धुंआधार बल्लेबाजी कर सकता है। बांग्लादेश के आम चुनावों में प्रधानमंत्री शेख हसीना की पार्टी आवामी लीग को एक बार फिर शानदार जीत मिली है। वह चौथी बार देश की बागडोर संभालेंगी। क्रिकेट प्रशंसकों के लिए आवामी लीग की इस जीत में भी बड़ी खबर है। बांग्लादेशी मिडिया के अनुसार हाल में संपन्न हुए चुनावों में वनडे टीम के कप्तान मशरफे बिन मुर्तजा भी नरैल सीट से चुनाव जीत गए हैं।
sports news, Cricket news in hindi, Bangladesh Cricketer, Mashrafe Mortaza, won Elections, General elections, Sheikh Hasina Party
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मशरफे मुर्तजा को कुल 2 लाख 74 हजार 418 वोट मिले, जबकि उनके करीबी प्रतिद्वंद्वी को सिर्फ आठ हजार छह वोट पर संतोष करना पड़ा। बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी और समूचे विपक्ष ने चुनाव को खारिज कर दिया है, उन्होंने सत्तारूढ़ पार्टी पर चुनाव में धांधली का आरोप लगाया है।
PunjabKesari
इससे पहले मोर्तजा ने कहा था कि ओडीआई सीरीज पर चुनावी कैंपेन की वजह से नकारात्मक असर नहीं होगा. राजनीति से जुड़ने पर 35 साल के क्रिकेटर ने कहा था कि क्रिकेट करिअर के बाद वे बांग्लादेश के लोगों की सेवा करने का सुनहरा अवसर देख रहे हैं। उन्होंने कहा था- अगर मैं वर्ल्ड कप तक खेलता हूं तो मेरे क्रिकेट करिअर में 7 से 8 महीने बचे हुए हैं। इसके बाद बाकी साढ़े 4 साल मैं क्या करूंगा मुझे नहीं पता. प्रधानमंत्री ने मुझे लोगों की सेवा करने का मौका दिया है। रिटायरमेंट को लेकर उन्होंने कहा था कि उनका गोल 2019 का वर्ल्ड कप है और वे टूर्नामेंट के बाद अपने फैसले को रिव्यू भी कर सकते हैं।

 

 

 

 

 

 

 

 

.
.
.
.
.