Sports

गोहाना (सोनीपत): बजरंग पूनिया ने खुद को देश का सबसे सफल पहलवानों में से एक साबित किया है लेकिन अपनी लय को बरकरार रखने के लिए उन्हें आकर्षण से बचना होगा, जिसके लिए मजबूत इरादा की जरूरत है। राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाला यह खिलाड़ी विश्व चैम्पियनशिप में दो पदक जीतने वाला इकलौता भारतीय है। जिसने से कारनामा किया है। बजरंग ने खुद को सात साल से मोबाइल फोन से दूर रखा, ताकि प्रतियोगिता के समय उनका ध्यान ईधर-उधर ना जाए ।
PunjabKesari
ये आकर्षण भले ही ज्यादा बड़े ना हो लेकिन बजरंग को लगता है कि इससे आसानी से ध्यान भटक सकता है। इसलिए खुद पर नियंत्रण रखना जरूरी है, उसका नतीजा आप सब देख सकते है। हरियाणा के 24 साल के इस खिलाड़ी के लिए साल 2018 सफलताओं से भरा रहा है जिसमें उन्होंने पांच पदक जीते हैं। इन पांच में से तीन पदक बड़ी चैम्पियनशिप से आए हैं।  
Sports news, Wrestling news hindi, bajrang poonia
बजरंग ने एक अखबार से कहा, 'मैं बहुत सारी चीजें करना चाहता हूं लेकिन खुद पर नियंत्रण रख रहा हूं। मुझे हमेशा अपने पास फोन रखने का शौक है। लेकिन 2010 में जब मैंने अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में खेलना शुरू किया था तब योगी भाई (योगेश्वर दत्त, जो उनके मेंटर भी हैं) ने मुझे ऐसा करने से मना किया था। अभी भी जब वे मेरे आस-पास होते हैं तो मैं अपना फोन छुपा लेता हूं।’
Sports news, Wrestling, Bajrang Poonia, temptation, Mobile phone, For seven years, Two medals, World championship, Yogeshwar Dutt
योगेश्वर दत्त की अकादमी में आयोजित हरियाणा गौरव कप के लिए यहां पहुंचे बजरंग ने कहा, ‘उन्हें पता है कि अब मेरे पास मोबाइल फोन है लेकिन उनके सामने मैं कभी भी इसका इस्तेमाल नहीं करता हूं। अगर वह मेरे साथ 10 घंटे तक है तो मैं 10 घंटे तक अपना मोबाइल छूता भी नहीं हूं।’  

.
.
.
.
.