Sports

पर्थ : भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली का मानना है कि ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन और बल्लेबाज रोहित शर्मा की अनुपस्थिति के बावजूद आस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत पूरी तरह मजबूती के साथ उतरेगा और उनके पास अभी भी जीत का पूरा मौका है। अश्विन और रोहित चोटों के कारण पर्थ टेस्ट के लिए चुनी गई 13 सदस्यीय भारतीय टीम का हिस्सा नहीं बन पाये हैं जबकि अभ्यास मैच में धमाकेदार प्रदर्शन करने वाले ओपनर पृथ्वी शॉ भी चोटिल हैं और दूसरे मैच में भी नहीं खेल सकेंगे। हालांकि मैच की पूर्व संध्या पर कप्तान विराट ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चोटिल खिलाडिय़ों की अनुपस्थिति के बावजूद भारत के पास जीत का पूरा मौका है।

विराट ने कहा- हमें अपने जीतने को लेकर पूरा भरोसा है और हम इसी को लेकर आगे बढऩा चाहते हैं। हमें पता है कि आस्ट्रेलिया घरेलू परिस्थितियों में मजबूत है और पर्थ में उसकी कोशिश वापसी करने की होगी क्योंकि यहां पर तेज गेंदबाजों को ज्यादा मदद मिलती है। लेकिन हमारे पास भी बराबर मौका है। एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट में भारत 31 रन से जीता था और इस मैच में अश्विन ने छह विकेट लेकर बेहतरीन और किफायती गेंदबाजी की थी। वहीं मध्यक्रम में रोहित अच्छे स्कोरर हैं। लेकिन उनकी जगह हनुमा विहारी के खेलने की उम्मीद है।

भारतीय टीम के लिये फिलहाल बड़ी चुनौती पर्थ के नये स्टेडियम पर तेज और हरी पिच की चुनौती का सामना करना है। इस पिच को लेकर काफी चर्चा है लेकिन विराट ने कहा कि वह यहां खेलने को लेकर घबरा नहीं रहे हैं बल्कि उन्हें इस पिच पर मैच को लेकर उत्साह है और वह खुश हैं कि इस पिच पर उन्हें खेलने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा- हम इस तरह की पिचों को लेकर अब घबराने के बजाय उत्साहित होते हैं क्योंकि ऐसी पिचें बहुत जीवट होती हैं।

उन्होंने कहा- हमें पता है कि हमारे पास ऐसा गेंदबाजी आक्रमण है जो विपक्षी टीम को समेट सकता है। हमने पिच को देखा है और हम इस पर घास देखकर खुश हैं। हम यहां एडिलेड से अधिक घास चाहते थे। लेकिन जब आपके पास ऐसे तेज गेंदबाज हों जो अपनी फार्म के शीर्ष स्तर पर हों तो आपकी स्थिति मजबूत हो जाती है। विराट ने कहा- बल्लेबाज के तौर पर भी हमें इस बात से संतोष मिलता है कि हमारे पास बहुत शानदार गेंदबाजी लाइनअप है और हम अपनी तरफ से जिस तरह की बल्लेबाजी करेंगे उसका बचाव करने के लिये हमारे पास गेंदबाका हैं। हमें पता है कि यदि हम अच्छी बल्लेबाजी करेंगे तो हमें मन के मुताबिक परिणाम मिलेगा।

.
.
.
.
.