Sports

कोलंबोः श्रीलंका के बर्खास्त किए गए कप्तान एंजेलो मैथ्यूज को बुधवार को इंग्लैंड के खिलाफ चुनी गई वनडे और टी20 टीमों में जगह नहीं दी गई है। उन्होंने टीम के एशिया कप में निराशाजनक प्रदर्शन के लिए खुद को ‘बलि का बकरा’ बनाने के लिए बोर्ड पर आरोप लगाया था।

इस इकतीस वर्षीय आलराउंडर को 10 अक्टूबर से शुरू हो रहे पांच एक-दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों और एकमात्र टी20 मैच के लिए 15 सदस्यीय टीम में शामिल नहीं किया गया। क्रिकेट अधिकारियों ने कहा कि फिटनेस मुद्दों के कारण मैथ्यूज को टीम से बाहर होने के लिए बाध्य होना पड़ा।  
PunjabKesari

अधिकारियों ने कहा कि मैथ्यूज को टेस्ट टीम में बरकरार रखा गया था।  मैथ्यूज ने इस हफ्ते वनडे और टी20 कप्तान से हटाये जाने के बाद श्रीलंका क्रिकेट को लिखे पत्र में कहा था, ‘‘एशिया कप में बांग्लादेश और अफगानिस्तान के खिलाफ श्रीलंका की टीम के प्रदर्शन के लिए पूरे प्रकरण में मुझे बलि का बकरा बनाया गया है। ’’ बोर्ड ने कहा कि उसने मैथ्यूज को कप्तानी से हटने के लिये कहा और दिनेश चांदीमल को इंग्लैंड के खिलाफ तीनों प्रारूपों में अगवायी की जिम्मेदारी सौंपी।           

श्रीलंका टीम इस प्रकार है- 
दिनेश चांदीमल, उपुल थरंगा, सदीरा समरविक्रम, निरोशन डिकवेला, धनंजय डि सिल्वा, दासुन शनाका, तिसारा परेरा, अकिला धनंजय, दुष्मंता चामीरा, लसिथ मलिंगा, अमिला अपोंसो, लक्ष्ण संदाकन, नुआन प्रदीप, कासुन रंजीता और कुसाल परेरा।      

    

.
.
.
.
.