Sports

न्यूयार्क: युवा बियांका आंद्रिस्कू कनाडा की पहली ग्रैंडस्लैम चैम्पियन बन गई जिसने 23 बार की ग्रैंडस्लैम विजेता सेरेना विलियम्स को 6.3, 7.5 से हराकर अमेरिकी ओपन महिला एकल खिताब जीता। उन्नीस बरस की आंद्रिस्कू पिछले 15 साल में सबसे युवा ग्रैंडस्लैम चैम्पियन भी बनी । इससे पहले अमेरिकी ओपन 2004 में स्वेतलाना कुजनेत्सोवा ने खिताब जीता था। 

PunjabKesari
सेरेना की किसी ग्रैंडस्लैम फाइनल में लगातार चौथी हार है जिससे रिकार्ड की बराबरी वाले 24वें ग्रैंडस्लैम का उनका इंतजार और लंबा हो गया। आंद्रिस्कू ने कहा, ‘मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकती कि कैसा महसूस कर रही हूं। मैने इस पल के लिये बहुत मेहनत की है।' इस सत्र में आंद्रिस्कू का शीर्ष 10 रैंकिंग वाले खिलाड़ियों के खिलाफ रिकार्ड 8.0 का था । इस जीत के बाद वह रैंकिंग में पांचवें स्थान पर पहुंच जाएगी। 

आंद्रिस्कू ने मोनिका सेलेस की भी बराबरी कर ली जिन्होंने 1990 में चौथा ग्रैंडस्लैम खेलते हुए ही खिताब जीत लिया था । सेरेना की अमेरिकी ओपन फाइनल में लगातार दूसरी हार है । उन्होंने कहा, ‘बियांका ने अद्भुत खेल दिखाया। मुझे उस पर गर्व है। यदि वीनस के अलावा किसी और के जीतने पर मुझे खुशी होती तो वह बियांका है।' सेरेना ने 1999 में पहला ग्रैंडस्लैम जीता था तब आंद्रिस्कू पैदा भी नहीं हुई थी। वह पिछले दो साल में फ्लशिंग मीडोस पर मुख्य ड्रा में भी जगह नहीं बना सकी थी । 

.
.
.
.
.