Sports

स्टावेंगर,नॉर्वे ( निकलेश जैन )अल्टिबॉक्स नॉर्वे शतरंज मे 9 वे  राउंड मे  भारत के ग्रांड मास्टर विश्वनाथन आनंद नें जोरदार वापसी करते हुए पूर्व विश्व चैम्पियन चैलेंजर रूस के सेरगी कार्याकिन पर जोरदार जीत के साथ सयुंक्त दूसरा स्थान हासिल करते हुए प्रतियोगिता का अच्छा समापन किया । अंतिम तीन राउंड मे आनंद नें 48 की उम्र में भी जबरजस्त जुझारू क्षमता दिखाते हुए एक बार फिर उम्र को सिर्फ एक नंबर साबित कर दिया । उन्होने सातवे राउंड पर फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव पर जीत दर्ज की तो आठवे राउंड में उन्हे प्रतियोगिता में विजेता बने अमेरिका के फेबियानों करूआना से हार का सामना करना पड़ा पर उन्होने अंतिम राउंड में युवा कार्याकिन पर जीत दर्ज कर एक बार सभी को बताया की उनमें अभी काफी शतरंज बाकी है । क्वीन गेंबिट डिकलाइन ओपनिंग में शुरुआत से आनंद पर कार्याकिन नें जोरदार हमले करने की कोशिश की पर आनंद नें दिखाया की अब भी उनका डिफेंस तोड़ना आसान काम नहीं है और आनंद नें भी कार्याकिन के राजा पर जबाबी हमले जारी रखे और खेल की 26 वे चाल में कार्याकिन की अपने प्यादे की एक गलत चाल नें ना सिर्फ उनके वजीर को मुश्किल में डाला बल्कि 32 वी चाल तक आते आते उन्होने खेल में हार स्वीकार कर ली । इस जीत के साथ ही अब आनंद विश्व रैंकिंग में 14 स्थान से 11 वे स्थान पर पहुँच गए है और उम्मीद है वह पुनः शीर्ष 10 में शामिल जरूर होंगे । 

PunjabKesari

खैर बात करे अमेरिका के फेबियानों करूआना की तो उन्होने अंतिम राउंड में हमवतन वेसली सो को पराजित करते हुए 5अंको के साथ खिताब जीत लिया । कार्लसन के खिलाफ विश्व चैंपियनशिप से पहले यह उनकी ही मौजूदगी में लगातार दूसरा सुपर ग्रांड मास्टर खिताब है हालांकि वह कार्लसन के खिलाफ मुक़ाबला जीत नहीं सके है । मेजबान नॉर्वे के मेगनस कार्लसन ,अमेरिका के हिकारु नाकामुरा और भारत के विश्वनाथन आनंद 4.5 अंक बनाकर सयुंक्त दूसरे स्थान पर रहे । अन्य खिलाड़ियों में अमेरिका के वेसली सो और अर्मेनिया के लेवान अरोनियन ,4 अंक पर ,अजरबैजान के ममेद्यारोव 3.5 अंक तो फ्रांस के मेक्सिम लाग्रेव और रूस के सेरगी कार्याकिन 3 अंक बना सके । 

.
.
.
.
.