Sports

नई दिल्लीः सलामी बल्लेबाजों अजिंक्य रहाणे (नाबाद 144) और विकेटकीपर बल्लेबाज इशान किशन (114) की शतकीय पारियों के साथ 210 रन की साझेदारी के दम पर भारत सी ने देवधर ट्राफी एकदिवसीय चैम्पियनशिप के फाइनल में शनिवार को यहां भारत बी को 29 रन से हराकर खिताब अपने नाम किया। बड़े स्कोर वाले इस मैच में भारत सी ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में सात विकेट पर 352 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा करने के बाद भारत बी को 46.1 ओवर में 323 रन पर आल आउट कर दिया।  

अय्यर का शतक गया बेकार
भारत बी के कप्तान श्रेयस अय्यर ने 114 गेंद में 11 चौके और आठ छक्कों की मदद से 148 रन बनाए लेकिन उनकी पारी टीम को जीत दिलाने के लिए काफी नहीं थी। जब तक वह क्रीज पर थे टीम जीत की ओर बढ़ रही थी लेकिन उनके आउट होते ही पारी लडख़ड़ा गयी। अय्यर के अलावा ऋतुराज गायकवाड़ ने 60 और अंकुश बैंस ने 37 रन का योगदान दिया। विजय हजारे ट्राफी की खोज माने जा रहे पप्पू राय भारत सी के सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने तीन विकेट लिये। रजनीश गुरबानी, नवदीप सैनी और विजय शंकर को दो-सफलता मिली।           

इससे पहले टास जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी भारत सी को कप्तान अजिंक्य रहाणे और विकेटकीपर बल्लेबाज इशान किशन ने शानदार शुरूआत दिलायी। रहाणे ने 156 गेंद में नाबाद 144 रन की पारी में नौ चौके और तीन छक्के लगाये। इशान हालांकि ज्यादा आक्रामक रहे जिन्होंने 87 गेंद में 11 चौके और 6 छक्के की मदद से 114 रन बनाये। अंतिम ओवरों में सूर्यकांत यादव ने 18 गेंद में 39 रन (एक चौका, चार छक्के) ताबड़तोड़ पारी खेल टीम के स्कोर को साढे तीन सौ के पार पहुंचाया। इंडिया सी के लिये जयदेव उनादकट सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 10 ओवर में 52 रन देकर तीन विकेट लिये। दीपक चाहर और मयंक मार्कंडेय को दो-दो सफलता मिली।