Sports

स्पोर्ट्स डेस्क: स्पिनर राधा यादव की करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी और युवा सलामी बल्लेबाज शेफाली वर्मा की एक और धमाकेदार पारी से भारत ने शनिवार को यहां श्रीलंका को 32 गेंद शेष रहते हुए सात विकेट से करारी शिकस्त देकर आईसीसी महिला टी20 विश्व कप में अपना विजय अभियान जारी रखा। विश्व कप में लगातार चौथा मैच जीतकर सेमीफाइनल में पहुंचें वाली टीम इंडिया पहली टीम बन गई है। ऐसे में मैच जीतने के बाद हरमनप्रीत ने टीम के सभी खिलाड़ियों को जीत का श्रेय दिया और युवा खिलाड़ी शेफाली वर्मा की जमकर तारीफ की।  

PunjabKesari
दरअसल, मैच जीतने के बाद हरमनप्रीत ने कहा, 'जब आप गेम जीत रहे हों, तब गति को बनाए रखना वास्तव में जरुरी होता है। आप वास्तव में कड़ी मेहनत करते हैं, इसलिए आप उस गति को खोने का जोखिम नहीं उठा सकते। आप इन विकेटों पर समान गति और लंबाई से गेंद नहीं फेंक सकते, इसलिए आपको गेंदबाजों को रोटेट करते रहना होगा। आज मैंने सकारात्मक बनने की कोशिश की और कुछ सीमाएँ प्राप्त कीं। आने वाले खेलों में मैं अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करूंगी। शेफाली बड़े शॉट्स खेलना पसंद करती हैं और हम उसे रोकना नहीं चाहते हैं।उसे ऐसा ही करते रहना चाहिए और उसे अपने खेल का आनंद लेते रहना चाहिए।

आपको बता दें कि भारत ने लीग चरण में अपने सभी चारों मैच जीते और इस तरह से उसने आठ अंक हासिल किए। अब उसकी टीम बढ़े मनोबल के साथ सेमीफाइनल में उतरेगी। श्रीलंका की यह लगातार तीसरी हार है। भारत के सामने छोटा लक्ष्य था और ऐसे में शेफाली और स्मृति मंधाना (12 गेंद पर 17 रन) ने आक्रामक तेवर अपनाए। इन दोनों ने पहले विकेट के लिये 34 रन जोड़े। मंधाना ने मिड आन पर कैच देने बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर (14 गेंद पर 15) क्रीज पर उतरी। उन्होंने दो चौके और एक छक्का जड़कर अपना असली रंग दिखाया लेकिन वह सेमीफाइनल से पहले लंबी पारी नहीं खेल पाई। 

.
.
.
.
.