IPL 2019
Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज एश्टन टर्नर की तूफानी बल्लेबाजी की बदौलत भारत को मोहाली में खेले गए चौथे वनडे में हार का सामना करना पड़ा है। मैन ऑफ द मैच रहे टर्नर ने कहा कि मुझे नहीं लगा था कि मैं मैच खेल पाऊंगा लेकिन अंतिम समय में दिमाग को डायवर्ट कर मैच खेलने वाली स्थिति में लाना पड़ा। गौर हो कि टर्नर के 43 गेंदों पर 84 रनों की पारी के कारण ऑस्ट्रेलिया भारत द्वारा दिए गए 359 रनों के लक्ष्य को हासिल करने में कामयाब रही और मैच जीतकर सीरीज 2-2 से बराबर की। 

PunjabKesari

मोहाली में बल्लेबाजी करके बड़ा मजा आया

टर्नर ने कहा कि मेरे पास शब्द नहीं हैं। उन्होंने कहा, मार्कस स्टोइनिस अपना फिटनेस टेस्ट दे रहे थे। मुझे लगा कि ड्रिंक्स लेकर मैदान में जाना रहेगा। 'मुझे काफी विश्वास था कि अगर मौका मिला तो खेलने को तैयार रहूं। इस तरह से हम टीम के रूप में हर दिन नहीं खेलते। यह मैच शानदार था। भाग्यशाली रहा कि जीत मिली। मोहाली में बल्लेबाजी करने में बड़ा मजा आ रहा था। कुछ नजदीकी कॉल रहे, मुझे पता था कि लंबा शॉट जमाने पर गेंद मैदान के बाहर नहीं जाएगी, लेकिन दिल उसी तरफ दौड़ रहा था।'

PunjabKesari

खुद को मानता हूं भाग्यशाली

26 वर्षीय टर्नर ने आगे कहा, 'मेरे कुछ कैच छूटे, जिस कारण खुद को भाग्यशाली मानता हूं, ऐसा हमेशा नहीं होता है। टर्नर ने मैथ्यू हेडन (पूर्व ऑस्ट्रेलियाई ओपनर) तारीफ करते हुए कहा कि मैं भाग्यशाली हूं कि हेडन से कैप मिली। उनका मेरे प्रति बर्ताव शानदार रहा है। उनके सामने खड़े होने में अभी भी मुझे घबराहट होती है। उन्होंने मेरे साथ नेट्स पर काफी समय बिताया और लोग जानते हैं कि वह स्पिन को अच्छे से खेलना जानते हैं।' 'हेडन दिग्गज खिलाड़ी हैं, उनके साथ बैठकर क्रिकेट के बारे में बात करके बड़ा अच्छा लगता है। उनसे अच्छे शब्द सुनना अच्छा लगता है। स्पिन के खिलाफ मैंने गेंद को नजदीक से देखने का प्रयास किया। गेंद को देखना ज्यादा आसान है न कि उसे अनदेखा करना।'

.
.
.
.
.