Sports

अबुधाबी : भारत ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के खिलाफ कई शानदार मौके गंवाए और उसे मेजबान यूएई के खिलाफ गुरूवार को एएफसी एशियन कप फुटबॉल टूर्नामेंट में 0-2 से हार का सामना करना पड़ा।  भारत ने अपने पहले मैच में थाईलैंड को 4-1 से हराकर इतिहास रचा था लेकिन यूएई के खिलाफ भाग्य जैसे भारत के साथ नहीं था और उसके दो बेहतरीन प्रयास गोलपोस्ट से टकरा गए। यदि ये मौके गोल में बदल जाते तो मैच की कहानी कुछ और ही होती।

PunjabKesari

भारत की दो मैचों में यह पहली हार है और उसके खाते में तीन अंक हैं। यूएई की दो मैचों में यह पहली जीत है और उसके चार अंक हो गए हैं। यूएई ने बहरीन के खिलाफ अपना पहला मैच 1-1 से बराबर खेला था। 

PunjabKesari

भारत की हार के बाद ग्रुप में बड़ी दिलचस्प स्थिति बन गयी है। इस ग्रुप के इससे पहले खेले गए एक अन्य मैच में थाईलैंड ने बहरीन को 1-0 से हराकर तीन अंक हासिल किये और खुद को राउंड 16 की नॉक आउट होड़ में कायम रखा।  इस ग्रुप में भारत का अंतिम मुकाबला बहरीन से 14 मार्च को होगा जबकि इसी दिन यूएई का सामना थाईलैंड से होगा। थाईलैंड की बहरीन पर जीत के बाद भारतीय टीम उम्मीद कर सकती है कि वह भी बहरीन को हरा सकती है।

यूएई ने दोनों हाफ में एक-एक गोल कर जीत अपने नाम की। यूएई ने 41वें मिनट में खलफान मुबारक के गोल से बढ़त बनायी जिसे अली अहमद माबखोत ने 88वें मिनट में दोगुना किया। भारत के दो प्रयास पोस्ट से टकराये जबकि कप्तान सुनील छेत्री का शानदार प्रयास गोल से कुछ इंच दूर से निकल गया।

.
.
.
.
.