Sports

पंजाब केसरी के प्रतिनिधि निकलेश जैन मॉस्को रूस से 

मॉस्को ,रूस ( निकलेश , जैन ) दुनिया के सबसे कड़े और मजबूत ग्रांड मास्टर ओपन माने जाने वाले ऐरोफ़्लोट ओपन 2018 में  ऐरोफ़्लोट ओपन में  ​अंतिम और निर्णायक राउंड में भारतीय ग्रांड मास्टर सेथुरमन नें अनुभवी ग्रांड मास्टर मालदोव के विक्टर बोलोगन को पराजित करते हुए 6.5 अंक के साथ दुनिया के सबसे कठिन ओपन टूर्नामेंट कहे जाने वाले ऐरोफ़्लोट ओपन में दूसरा स्थान हासिल करते हुए देश के शतरंज प्रेमियों को गर्व करने का मौका दे दिया.।  भारत के लिहाज से यह मैच सबसे महत्वपूर्ण था क्यूंकी जीत सेथुरमन को शीर्ष 3 में पहुंचा सकती थी और यही शर्त बोलोगन पर भी लागू होती थी । बोलगन कल ही बेहद शानदार जीत के साथ अच्छे आत्म विश्वास से भरपूर थे । इटेलिअन ओपनिंग में बोलोगन नें कुछ गलत चालों से सेथुरमन को दवाब बनाने का मौका मिला गया और हाथी के एंडगेम में वह एक अतिरिक्त प्यादे की बढ़त पर थे और दबाव में बोलोगन अच्छा नहीं खेल सके और सेथुरमन नें   । अंतिम राउंड में शशिकिरण और अरविंद की हार , मुरली और विदित के ड्रॉ के बाद सबकी नजरे सेथुरमन पर टिकी थी और उन्होने शानदार चालों से हाथी के एंडगेम में  जीत दर्ज की ,बेलारूस के कोवलेव व्लादिस्लाव नें अर्मेनिया के सरगिससियन गेब्रियल से आसानी से ड्रॉ खेलते हुए आधे अंक की बढ़त के साथ 7 अंक बनाकर टूर्नामेंट जीत लिया .टूर्नामेंट मे मेजबान रूस के दिमित्री गोरदिवस्की 6. 5 अंक बनाकर टाईब्रेक में तीसरे स्थान पर रहे । अन्य भारतीय खिलाड़ियों में शशिकिरण 25वे ,अरविंद चितांबरम 26वे ,मुरली कार्तिकेयन 29वे और विदित गुजराति 35वे स्थान पर रहे । 
 

.
.
.
.
.