Sports

स्पोर्ट्स डेस्क : आज का दिन क्रिकेट इतिहास में बेहद खास है क्योंकि 2001 में आज ही के दिन सौरव गांगुली की कप्तानी में भारत ने स्टीव वॉ की कप्तानी वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम का टेस्ट क्रिकेट में लगातार 10वीं सीरीज जीतने के वर्ल्ड रिकॉर्ड का सपना चकनाचूर कर दिया था। कोलकाता के ईडन गार्डन्स में खेले गए इस मैच में वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ ने ऐसी साझेदारी की जो मैच जीतने के लिए टर्निंग प्वाइंट साबित हुई और भारत ने इतिहास रच दिया।

PunjabKesari

लक्ष्मण और द्रविड़ ने खेली अविश्वसनीय पारी 

मुंबई में पहला टेस्ट हार चुकी भारतीय टीम को उम्मीद नहीं थी कि कोलकाता के ईडन गार्डन्स में फॉलोऑन पारी के दौरान क्या होने वाला है। तीसरे दिन के खेल की समाप्ति पर भारत का स्कोर 254/4 रन था और वह ऑस्ट्रेलिया से अब भी 20 रन पीछे था। लेकिन 14 मार्च 2001 को टेस्ट मैच के चौथे दिन वह हो गया जिसकी किसी को कल्पना भी नहीं थी। पूरे दिन की बल्लेबाजी में भारत का एक भी विकेट नहीं गिरा और स्कोर 589/4 पर पहुंच गया। 

पांचवें विकेट के लिए लक्ष्मण ने नाबाद 275 और द्रविड़ नाबाद 155 रन अपने खाते में जोड़े। इतना ही नहीं पांचवें दिन कुल 376 रनों की भागीदारी के बाद लक्ष्मण अविश्वसनीय 281 रनों की पारी खेलकर लौटे, जबकि द्रविड़ 180 रन बनाकर रन आउट हुए। इसी के साथ भारत ने अपनी फॉलोआन पारी 657/7 पर घोषित कर दी। 

PunjabKesari

ऑस्ट्रेलिया को बड़े अंतर से हराया

बल्लेबाजी में लक्ष्मण और द्रविड़ के शानदार प्रदर्शन के बाद अब बारी गेंदबाजों की थी और उन्होंने भी कोई कसर नहीं छोड़ी और भारत ने इतिहास रचते हुए यह टेस्ट मैच 171 रनों के बड़े अंतर से जीता। ऑस्ट्रेलियाई टीम 68.3 ओवरों में 212 रन बनाकर ढेर हो गई।

.
.
.
.
.