नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले 18 साल के एथलीट पालिंदर चौधरी ने राजधानी के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में कथित तौर पर पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली, जिसके बाद भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने ‘विभागीय जांच’ के आदेश दिए हैं। जबकि भारतीय एथलेटिक्स महासंघ ने इस घटना पर गहरा शोक जताया है। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ के रहने वाले पालिंदर ने पिछले वर्ष बैंकॉक में हुई दूसरी एशियाई युवा एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया था। वह जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम के हॉस्टल में रहता था और स्प्रिन्ट्स अकादमी से जुड़ा था।

बताया जाता है कि पालिंदर ने मंगलवार शाम आत्महत्या कर ली थी। उसे स्टेडियम प्रांगण में स्थित एथलेटिक्स अकादमी के हॉस्टल के कमरे में लगे सीलिंग फैन से लटका पाया गया था। वह शाम 5.30 बजे अभ्यास सत्र खत्म करने के बाद अपने कमरे पर वापस लौटा था। उसके आत्महत्या करने के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। हालांकि, बताया जा रहा है कि उसकी अपने पिता के साथ एक दिन पहले किसी मामले को लेकर बहस हो गई थी। भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) ने इस घटना की विभागीय जांच के आदेश दिए हैं।

साई की महानिदेशक नीलम कपूर के अनुसार यह घटना स्टेडियम परिसर में हुई है, इसलिए विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं और जांच पूरी करने के लिए एक सप्ताह का समय दिया गया है। भारतीय एथलेटिक्स महासंघ के अध्यक्ष आदिल सुमारिवाला ने इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि यह बहुत ही दुखद है कि हमने एक उभरते एथलीट को खो दिया है। हम इस घटना पर सदमे और शोक में है।

.
.
.
.
.