Business

नई दिल्लीः दिवाली पर सभी को कुछ न कुछ उपहार मिलने का इंतजार रहता है और अगर यह उपहार नकद हो तो क्‍या कहने। कैपिटल फर्स्‍ट के संस्‍थापक और चेयरमैन वैद्यनाथन वेंबू ने अपने सहयोगियों, पर्सनल स्‍टाफ और नजदीकी रिश्‍तेदारों को 20 करोड़ रुपए कीमत के शेयर दिवाली गिफ्ट के रूप में दिए हैं। उन्होंने 4.29 लाख शेयर गिफ्ट किए हैं। 

PunjabKesari

वैद्यनाथन वेंबू की इस उदारता का त्‍यौहार से कोई लेना-देना नहीं है, बल्कि वह अपनी कंपनी के विकास में योगदान देने वाले कुछ चुनिंदा लोगों को प्रोत्‍साहन स्‍वरूप ये काम कर रहे हैं। यह कदम ऐसे समय उठाया गया है, जब इस वित्‍तीय सेवा कंपनी का विलय आईडीएफसी बैंक के साथ होने जा रहा है। कंपनी ने अपने एक बयान में कहा है कि कंपनी के विकास में योगदान देने वालों के प्रति अपना आभार जताने के लिए वैद्यनाथन ने कुछ सहयोगियों को अपने व्‍यक्तिगत शेयरों में से कुछ शेयर देने की इच्‍छा जताई है।

PunjabKesari

ड्राइवर और नौकरानी बने लखपति
स्टॉक एक्सचेंज बीएसई को दी गई जानकारी के मुताबिक, वैद्यनाथन ने कंपनी में अपनी निजी हिस्सेदारी से कैपिटल फर्स्ट के 26 कर्मचारियों को ये शेयर दिए हैं। इनमें 3 कंपनी के पूर्व कर्मचारी हैं। इसके अलावा 10 रिश्तेदार और 5 उनके निजी स्टाफ लोग भी उपहार पाने वालों में शामिल हैं। निजी स्टाफ में ड्राइवर और घर में काम करने वाली नौकरानी को 6500-6500 शेयर दिए हैं। फिलहाल कैपिटल फर्स्ट के एक शेयर की कीमत 478.60 रुपए है और इस हिसाब से ड्राइवर और नौकरानी को 31-31 लाख रुपए के गिफ्ट मिले। 

PunjabKesari

3 पूर्व कर्मचारी को भी मिले गिफ्ट
वैद्यनाथन ने 11-11 हजार शेयर वैद्यनाथन के 23 सहयोगियों और 3 पूर्व कर्मचारियों को दिए है। उनके भाई सत्यमूर्थी वेंबू को 26,000 शेयर और अन्य भाई कृष्णामूर्थी को 13,000 शेयर गिफ्ट में मिले। इसके अलावा 71,500 लाख शेयर वैद्यनाथन के नजदीकी परिवार के 8 सदस्‍यों और रिश्‍तेदारों को दिए जाएंगे। 

वैद्यनाथन के पास बचे 36.11 लाख शेयर
यह उपहार देने से पहले वैद्यनाथन के पास कंपनी के 40.4 लाख शेयर या 4.08 फीसदी हिस्‍सेदारी थी। अब उनके पास 36.11 लाख शेयर बचे हैं। उनके पास कंपनी में रुकमणी सोशल वेलफेयर ट्रस्‍ट के ट्रस्‍टी के रूप में 4.94 लाख शेयर भी हैं।

.
.
.
.
.