Sports

नई दिल्ली: भारत अगले वर्ष महिला विश्व चैंपियनिशप के अलावा 2021 में पहली बार पुरूष विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप की मेजबानी करेगा जो एक समय प्रशासनिक परेशानियों से जूझ रहे खेल के लिये बड़ी उपलब्धि है। अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) ने मास्को में अपनी कार्यकारी समिति की दो दिवसीय बैठक के बाद यह घोषणा की।  

एआईबीए अध्यक्ष डा. चिंग कुआ वु ने बयान में कहा कि हमें यह पुष्टि करते हुए खुशी हो रही है कि एआईबीए पुरूष विश्व चैंपियनशिप 2019 सोच्ची में होगी और हम बड़ी प्रसन्नता के साथ यह घोषणा भी करते हैं कि नई दिल्ली 2021 की चैंपियनशिप की मेजबानी करेगा क्योंकि भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने खेल के विकास के लिये अपनी प्रतिबद्धता बरकरार रखी है। उन्होंने कहा कि तुर्की मुक्केबाजी महासंघ की प्रस्तुति के बाद मैं जानता हूं कि ट्राबजोन 2019 में विश्व के सबसे बड़े महिला मुक्केबाजी टूर्नामेंट की मेजबानी के लिये तैयार रहेगा। 

भारत ने इससे पहले कभी पुरूष विश्व चैंपियनशिप की मेजबानी नहीं की थी लेकिन उसने 2006 में महिला चैंपियनशिप की मेजबानी की थी। भारत ने अब पुरूषों की जिस प्रमुख मुक्केबाजी प्रतियोगिता की मेजबानी की है उनमें 1990 में मुंबई में खेला गया विश्व कप है और 2010 में नयी दिल्ली में आयोजित राष्ट्रमंडल चैंपियनशिप है।   

भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा कि पहली बार देश को दो प्रमुख चैंपियनशिप की मेजबानी सौंपी गयी है। हमने जो प्रस्तुति दी उसे एआईबीए अध्यक्ष ने सर्वश्रेष्ठ करार दिया। यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि भारतीय महासंघ प्रशासनिक अव्यवस्था के कारण 2012 से 2016 के बीच निलंबन झेल रहा था। खेल मंत्री विजय गोयल ने ट्वीट किया कि भारतीय मुक्केबाजी प्रशसंकों और खिलाड़ियों के लिए शानदार खबर।