Sports

रियाध ,सऊदी अरब , भारतीय ग्रांड मास्टर विश्वनाथन आनंद नें 48 वर्ष की आयु में इतिहास रचते हुए दुनिया भर के सभी युवा दिग्गज खिलाड़ियों को पीछे छोड़ते हुए विश्व रैपिड शतरंज चैम्पियन होने का गौरव हासिल कर लिया है । शतरंज के ब्लिट्ज के बाद सबसे तेज फॉर्मेट रैपिड का खिताब जीतकर उन्होने सभी को चौंका दिया है । 15 राउंड की इस प्रतियोगिता में आनंद अविजित रहे और उन्होने कुल 9 ड्रॉ और 6 जीत दर्ज की और कुल 10.5 अंक बनाए  । इस दौरान उन्होने मौजूदा विश्व क्लासिकल चैम्पियन नॉर्वे के मेगनस कार्लसन ,रूस के दिग्गज अलेक्ज़ेंडर ग्रीसचुक ,अमेरिका के अकोबियन वरुजहन ,हंगरी के पीटर लेको ,रूस के अंटोन डेमचेंकों ,और इंग्लैंड के मेकशेन ल्यूक पर जीत दर्ज की ।  इनाम के तौर पर आनंद नें 2.5 लाख अमेरिकन डॉलर करीब 1 करोड़ 60 लाख रुपेय ही पुरुष्कार के तौर पर प्राप्त लिए । 

तीन लोगो में हुआ टाई 

15 राउंड के बाद भारत के विश्वनाथन आनंद ,रूस के व्लादिमीर फेडोसीव और इयान नेपोमनियची 10.5 अंक बनाकर सयुंक्त पहले स्थान पर थे । पर टाईब्रेक के आधार पर इयान नेपोमनियची पहले ही तीसरे स्थान पर थे जबकि पहले स्थान के लिए हुई दो ब्लिट्ज मैच की श्रंखला में आनंद नें फेडोसीव को 2-0 से पराजित करते हुए इतिहास रच दिया । 

कार्लसन रहे पांचवे स्थान पर 2013 के बाद से यह पहला मौका है जब  मौजूदा विश्व चैम्पियन मेगनस कार्लसन टॉप थ्री में जगह नहीं बना पाये । टॉप 10 खिलाड़ी कुछ यूं रहे । 

भारत के विश्वनाथन आनंद पहले , रुस के व्लादिमीर फेडोसीव दूसरे और ,रूस के ही इयान नेपोमनियची तीसरे स्थान पर रहे ,चीन के बू क्षियांग्जी चौंथे स्थान पर रहे ,नॉर्वे के मेगनस कार्लसन पांचवे ,रुस के अलेक्ज़ेंडर ग्रीसचुक छठे और बोरिस सेवेचेंकों सातवे ,अजरबैजान के ममेदेओ रौफ आठवे और गादिर गसिनोव नवे तो रूस के पीटर स्वीडलर दसवे स्थान पर रहे । 

अन्य भारतीय खिलाड़ियों में पेंटाला हरिकृष्णा 16वे ,सूर्य शेखर गांगुली 60वे ,विदित गुजराती 61वे ,अधिबन भास्करन 65वे और सेथुरमन 96वे स्थान पर रहे । 

महिला खिलाड़ियों में निराशा हाथ लगी । द्रोणावल्ली हरिका 19वे ,पदमिनी राऊत 22वे ,एस विजयालक्ष्मी 34वे तो ईशा करवाड़े 35 वे स्थान पर रही ।