Sports

नागपुर:  भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में मिली जीत के बाद अपनी दोहरी शतकीय पारी की वजह से मैन ऑफ द मैच चुने जाने पर विराट ने अपनी फिटनेस को क्रेडिट दिया। उन्होंने कहा कि फिटनेस की वजह से ही वह इतनी देर तक टिककर रन बनाते रहे और विदेशी दौरों में भी ऐसा ही खेलना चाहते हैं। 

भारत ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में चौथे ही दिन सोमवार को पारी और 239 रन से जीत दर्ज कर ली। इस मैच में भारत ने अपनी पहली पारी में छह विकेट पर 610 रन बनाकर इसे घोषित कर दिया था जिसमें कप्तान विराट ने 213 रन का योगदान दिया था। वहीं मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा और रोहित शर्मा ने शतक बनाए थे।  विराट को उनके इस दोहरे शतक के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। 

श्रीलंका के खिलाफ 3 मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त के बाद कप्तान ने कहा कि यह पिच बल्लेबाजी के लिए बहुत बढिय़ा थी। यह थोड़ी धीमी थी और इस पर ज्यादा कुछ नहीं हो रहा था। मैं जिस तरह से बल्लेबाजी करना चाहता था वैसा ही कर रहा था। मैं चाहता था कि स्ट्राइक रोटेट करूं और ज्यादा स्कोर कर सकूं ताकि हमारे गेंदबाजों के पास विपक्षी टीम को आउट करने का समय हो। 

उन्होंने कहा कि हम विदेशी दौरों में भी ऐसा ही कारनामा दोहराना चाहते हैं। मैं हमेशा ही खुद को बेहतर करना चाहता हूं। मैं हमेशा सिर्फ इसलिए शतक बनाने के बारे में सोचता हूं ताकि मेरी टीम को इससे फायदा मिल सके। शतक के बाद जब आपका ध्यान भटक जाता है तो आप जल्द विकेट गंवा देते हैं। जो बल्लेबाज टिका रहता है वह नए के मुकाबले ज्यादा बेहतर खेलता है।