Sports

लंदन(राहुल): चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में भारत को पाकिस्तान के हाथों 180 रनों से करारी हार का सामना करना पड़ा। कप्तान कोहली द्वारा टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लेने के बाद भारतीय गेंदबाजों में दम नहीं दिखा और पाकिस्तान ने 4 विकेट पर 338 रन बना डाले। इस ऐतिहासिक मैच में भारतीय टीम ने कई गलतियां की, जिसका खाम्याजा उन्हें शर्मनाक हार के साथ भुगतना पड़ा। आइए जानते हैं भारत की हार के पांच प्रमुख कारण-

1. बुमराह की नो बॉल
जसप्रीत बुमराह जब मैच का चाैथा ओवर फेंकने आए उस दाैरान भआरत पाकिस्तान के ओपनर फखर जमाद का विकेट लेने के लिए चूक गया। बुमराह ने ओवर की पहली गेंद पर ही फखर को धोनी के हाथों कैच आउट करवा दिया, लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण अंपायर ने गेंद को नो बॉल करार दे दिया। इसके बाद फखद ने मिले जीवनदान का पूरा फायदा उठाया और 114 रनों की बड़ी पारी खेल डाली। 

2. अश्विन का फेल होना
रविचंद्रन अश्विन को एक दिन पहले घुटने में प्रैक्टिस के दौरान चोट लगी थी। उनका खेलना तय नहीं माना जा रहा था। आखिरकार उन्हें प्लेइंग इलेवन में शामिल किया गया। विराट ने उन पर ज्यादा ही भरोसा जताया और उनसे कोटे के पूरे ओवर फेंकवाए, लेकिन वह पूरी तरह से फेल साबित हुए। उन्होंने 10 ओवर में बिना विकेट हासिल किए 70 रन खर्च कर डाले। 

3. युवराज को गेंदबाजी ना देना
कप्तान कोहली की सबसे बड़ी गलती यह रही कि जब कोई भी गेंदबाज नहीं चल रहा था उस दौरान युवराज को गेंदबाजी ना देना। फैंस का मानना था कि विराट कोहली ऐसे मौके पर युवराज सिंह का इस्तेमाल करना चाहिए थे। एक चेंज बॉलर के तौर पर युवराज टीम इंडिया के लिए फायदेमंद साबित हो सकते थे।

4 जडेजा द्वारा पांड्या का आउट होना
एक समय भारत के 6 विकेट 72 स्कोर पर गिर चुके थे। उसके बाद तेज ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या आए। सबकी उन्मीदें उन्हीं पर थीं क्योंकि भारत के पास और बल्लेबाजी नहीं बची थी। उन्होंने छक्कों की बरसात लगाना शुरु की और मैच जीतने की उम्मीदें बनाई रखीं। लेकिन 27वें ओवर में जडेजा की गलती से वह रन आउट हो गए। उनके आउट होते ही भारत का संघर्ष ही थम गया था। पांड्या ने 4 चाैकों आैर 6 छक्कों की मदद से 43 गेंदों में 76 रनों की पारी खेली।

5. जाधव को समय पर ना लाना
बांग्लादेश के खिलाफ मुकाबले में केदार जाधव खासे काम आए थे। लेकिन इस मैच में कप्तान ने काफी देर बाद उन्हें याद किया। स्लॉग ओवर्स में उनसे गेंदें फेंकवाई गईं। 39वें ओवर में जाधव ने 7 रन दिए। 43 वें ओवर में हालांकि उन्होंने 4 देकर 1 विकेट लियाष लेकिन 45वें ओवर में जाधव को 16 रन चुकाने पड़ेष जिसके बाद उन्हें गेंदबाजी से हटाना पड़ा।