Sports

नई दिल्ली(राहुल): क्रिकेट अनिश्चिताओं का खेल है। उम्मीद के विपरीत घटनाएं अक्सर देखने को मिलती रहती है। कभी नए रिकॉर्ड बनते हैं तो कभी टूटते है, लेकिन इनमें से कुछ ऐसे रिकाॅर्ड कायम हो चुके हैं जिनका टूटना अब असंभव नजर आता है। आज हम आपको क्रिकेट इतिहास के उन 5 बड़े रिकॉर्ड्स से रूबरू करवाएंगे जिन्हें तोड़ना भविष्य में मुश्किल ही नहीं नामुंकिन है-

1. सर जैक होब्स के 199 शतक
फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे ज्यादा सेंचुरी का रिकॉर्ड इंग्लैंड के सर जैक हॉब्स के नाम दर्ज है। इस महान खिलाड़ी ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 834 मैच खेलकर 199 शतक लगाए हैं। साथ ही हॉब्स ने फर्स्ट क्लास मैचों में 61,760 रन भी बनाए हैं, जोकि एक और रिकॉर्ड है। उनके इस रिकाॅर्ड को तोड़ पाना किसी भी बल्लेबाज के लिए आसान नहीं होगा। अगर कोई खिलाड़ी इनके इस रिकॉर्ड के पास भी पहुंच जाए तो उसके लिए वह बड़ी उपलब्धि होगी।
PunjabKesari
2. युवराज के 6 छक्के
भारतीय टीम के सिक्सर किंग युवराज सिंह ने 2007 टी20 विश्व कप के मैच में एक ओवर में लगातार 6 छक्के लगाए हैं। उनके अलावा कोई भी बल्लेबाज टी20 मैच में यह कारनामा नहीं कर पाया है। युवराज ने इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्राॅड के ओवर में 6 छक्के लगाए थे। साथ ही उन्होंने 12 गेंदों में 50 रन पूरे किए थे। युवराज के इस रिकाॅर्ड को तोड़ना किसी भी बल्लेबाज के लिए आसान नहीं होगा।   
PunjabKesari
3. डॉन ब्रैडमैन की जादुई औसत
क्रिकेट इतिहास के सबसे महान बल्लेबाज माने जाने वाले सर डॉन ब्रैडमैन को अपनी आखिरी टेस्ट पारी में 100 की औसत पाने के लिए सिर्फ 4 रन की जरूरत थी लेकिन वह जीरो पर आउट हो गए थे। लेकिन टेस्ट में ब्रैडमैन की औसत इसके बावजूद भी 99.94 है। कोई भी बल्लेबाज अबतक इतनी आैसत से रन नहीं बना सका है। ब्रैडमैन ने 52 टेस्ट मैचों में 29 शतक आैर 12 दोहरे शतक की बदाैलत 99.94 की जादुई आैसत से 6996 रन बनाए हैं। 
PunjabKesari
4. सचिन के 100 इंटरनेशनल शतक
क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर दुनिया के इकलाैते बल्लेबाज हैं, जिन्होंने 100 इंटरनेशनल शतक लगाए। उन्होंने वनडे में 49 आैर टेस्ट में 51 शतक लगाए। अगर कोई बल्लेबाज उनके इस रिकाॅर्ड को तोड़ने की सोचेगा तो उसे 20 साल तक क्रिकेट खेलना होगा, जो माैजूदा समय में किसी भी खिलाड़ी के लिए असंभव नजर आता है।  
PunjabKesari
5. एक टेस्ट में जिम लेकर के 19 विकेट
पूर्व भारतीय स्पिन गेंदबाज अनिल कुंबले के नाम एक टेस्ट में सभी 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड दर्ज है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इंग्लैंड के जिम लेकर ने 1956 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक टेस्ट में 19 विकेट झटके थे। उन्होंने पहली पारी में 9 और दूसरी पारी में 10 विकेट झटके थे। इस रिकॉर्ड का टूटना असंभव है।
PunjabKesari