Sports

नई दिल्ली: श्रीलंका टीम के पूर्व कप्तान अर्जुन राणातुंगा के एक बयान ने क्रिकेट जगत में खलबली मचा दी है। राणातुंगा ने भारत- श्रीलंका के बीच हुआ 2011 विश्व कप के फाइनल मुकाबले में फिक्सिंग होने की आशंका जताई है। उन्होंने इस मामले पर खेल मंत्री विजय योयल से गंभीरता से जांच करने के लिए भी अपील की है। 

पाकिस्तान दौरे के साथ विश्व कप फाइनल पर भी हो जांच
श्रीलंका के अंग्रेजी अखबार के मुताबिक, राणातुंग का यह आरोप टीम के पूर्व कप्तान कुमार संगाकारा के 2009 में पाकिस्तान दौरे पर दिए गए बयान के बाद आया है। इस दौरे में श्रीलंका की टीम पर आतंकवादी हमला हुआ था। संगकारा ने कहा है कि इस बात की जांच होनी चाहिए कि यह दौरा किसके कहने पर हुआ था। उनके इस बयान के बाद राणातुंगा ने कहा कि अगर संगकारा पाकिस्तान दौरे को लेकर जांच चाहते हैं तो यह होनी चाहिए। लेकिन, मेरा मानना है कि 2011 वल्र्ड कप फाइनल में श्रीलंका के साथ जो हुआ उसकी भी जांच होनी चाहिए। मेरा मानना है कि खेल मंत्री को फिटनेस जैसी समस्याओं को छोड़कर इस मामले पर ध्यान देना चाहिए। 

एक दिन जरुर उठाउंगा फिक्सिंग से पर्दा
राणातुंगा ने कहा कि विश्व कप के फाइनल में मैं कमेंट्री पैनल में था। मुझे श्रीलंका के प्रदर्शन को देखते हुए बेहद निराशा हुई थी। उन्होंने कहा कि हमें इसकी जांच करनी चाहिए कि आखिर 2011 वल्र्ड कप फाइनल में श्रीलंका की टीम को क्या हो गया था। उन्होंने कहा कि मैं सभी खुलासे अभी नहीं कर सकता पर एक दिन मैं इससे पर्दा जरूर उठाऊंगा। इसकी जांच जरूर होनी चाहिए। बता दें कि श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान भारत के सामने 274 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसे भारत ने ओपनर बल्लेबाज गौतम गंभीर (97) और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 91) की बेहतरीन पारियों की बदौलत 6 विकेट रहते हासिल कर लिया था।